ऐसा प्यार! इस डॉक्टर ने पाल रखे हैं दुनिया के अलग-अलग देशों के 29 प्रजाति के तोते

ऐसा प्यार! इस डॉक्टर ने पाल रखे हैं दुनिया के अलग-अलग देशों के 29 प्रजाति के तोते

दिल्ली। पशु-पक्षियों से प्यार इंसानी फितरत रही है. अक्सर लोग कुत्तों की विभिन्न नस्लों को पालते हैं और अपने साथ रखते हैं. जो इंसान के सबसे करीबी और वफादार माने जाते हैं. तोता पालने का चलन भी लोगों में खूब देखा गया है, जो लोगों की बातों को बड़ी जल्दी सीख लेने और उनके शब्दों को दोहराने के लिए जाने जाते हैं. मगर कर्नाटक के एक डॉक्टर विश्वनाथ हेग्गा (Vishwanath hegga) का शौक तोतों का है. जिसके कारण उन्होंने दुनिया के कई देशों से तोता लाकर अपने घर में रखे हैं और बड़े ही प्यार से उनके साथ रहते हैं.

हेग्गा के पास तोतों की 29 प्रजातियां

Vishwanath hegga: पाल रखे हैं दुनिया के अलग-अलग देशों के 29 प्रजाति के तोते

कर्नाटक के कलबुर्गी के रहनेवाले डॉक्टर विश्वनाथ हेग्गा (Vishwanath hegga) के पास तोतों की 29 प्रजातियां हैं. ये तोते सिर्फ देशी ही नहीं ब्लकि विदेशी भी हैं. डॉ विश्वनाथ (Vishwanath hegga) को इन तोतों से इतना प्यार है कि वो खुद इनकी देखभाल करते हैं. इन्हें वो दुनिया के अलग-अलग देशों से लाए हैं. सभी तोते उनके घर में परिवार के अन्य सदस्यों की तरह ही रहते हैं. कर्नाटक सरकार के एक वेटरनरी डॉक्टर के बर्ड्स प्रेम ने उन्हें दुनियाभर में घूमने के लिए प्रेरित किया. कर्नाटक के कलबुर्गी के रहने वाले इस बर्ड मैन डॉक्टर का नाम विश्वनाथ हेग्गा (Vishwanath hegga) है. जिन्होंने अपने घर को चिड़ियों खासकर तोतों का आशियाना बना दिया है.

कलबुर्गी लाए गए 29 देशों के तोते

Vishwanath hegga: पाल रखे हैं दुनिया के अलग-अलग देशों के 29 प्रजाति के तोते

तोतों के प्रिय डॉक्टर विश्वनाथ (Vishwanath hegga) के प्यार के इस कलेक्शन की शुरुआत कीवियों के देश से हुई. उन्होंने कहा कि मैं कर्नाटक सरकार में कार्यरत एक पशुचिकित्सक हूं. अभी मैं 29 देशों से लाए गए तोतों की देख रेख कर रहा हूं. मैंने ये काम लववर्ड्स के साथ शुरु किया, जिन्हें मैं न्यूजीलैंड से लेकर आया। 29 देशों से कलबुर्गी लाए गए ये तोते भी अपने डॉक्टर दोस्त के साथ खूब खेलते हैं. विश्वनाथ (Vishwanath hegga) भी उनकी भाषा समझते हैं और उनसे बात करते हैं.

इम्पोर्टेड सेरेलेक खाते हैं हेग्गा के तोते

डॉक्टर विश्वनाथ (Vishwanath hegga) के इस पैरट प्रेम के प्रभाव से उनके दोस्तों अछूते नहीं रहे. उनके दोस्त संतोष पाटिल ने कहा कि विश्वनाथ (Vishwanath hegga) का परिवार भी इन तोतों की खास देखभाल करता है. इन्हें खाने में रोजाना चार बार ब्राजील से मंगाई गई इम्पोर्टेड सेरेलेक दी जाती है. सभी तोतों को नाम दिए गए हैं. अपने नाम से हर तोता वाकिफ है और उसी के मुताबिक रिस्पॉन्ड भी करता है.

गरमा-गरम, फ्राई स्पेशल

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: