मुस्लिम देशों में पॉर्न वेबसाइटें इतनी क्यों देखी जाती है?, भारत में 827 पर प्रतिबंध

मुस्लिम देशों में पॉर्न वेबसाइटें इतनी क्यों देखी जाती है?, भारत में 827 पर प्रतिबंध

दिल्ली। सरकार ने 827 पॉर्न वेबसाइटों को ब्लॉक कर दिया. अब इन साइटों को आप नहीं देख पाएंगे. दूरसंचार विभाग के आदेश के बाद इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर्स ने इसे लागू कर दिया. सेक्स वीडियो देखने के मामले में भारत तीसरे पायदान पर है. मगर ये जानना जरूरी है कि किन देशों में ये साइट सबसे ज्यादा देखी जाती है.

पॉर्न सर्चिंग में तीसरा नंबर

अमेरिका के बाद भारत में दुनिया के सबसे ज्यादा इंटरनेट यूजर्स हैं. दुनियाभर में पॉर्न मेटेरियल मुहैया कराने वाली जानी मानी वेबसाइट पॉर्नहब के सर्वे में खुलासा हुआ है कि साल 2017 में भारत में सेक्स वीडियो देखने के मामले में 75 फीसदी का इजाफा हुआ. दुनियाभर में तुलना करें तो भारत पॉर्न देखने के मामले में तीसरा सबसे बड़ा देश है. 2014 में भारत पांचवे नंबर पर था. इस वेबसाइट आनेवाले ट्रैफिक में 40 फीसदी ट्रैफिक अमेरिका से आता है.

टॉप 8 में से 6 मुस्लिम देश

गूगल ने 2015 में सबसे ज्यादा पॉर्न खोजनेवाले देशों की लिस्ट जारी की थी. इन देशों मं पाकिस्तान सबसे आगे था. गूगल की इस खोज में इंटरनेट पर सेक्स वीडियो  सर्च करनेवाले देशों में टॉप आठ में से 6 मुस्लिम देश हैं. इनमें दूसरे नंबर पर मिस्र है. ईरान, मोरक्को, सऊदी अरब और टर्की चौथे, पांचवे, सातवें और आठवें नबर पर हैं. लेबनान और टर्की को छोड़ दे तो कई अरब देशों ने अपने यहां प्रतिबंध लगा रखा है.

पॉर्न पर भारत में कानून

भारत में अश्लील सामग्री को नियत्रिंत करने के लिए कोई खास कानून नहीं है. मगर कुछ कानून है जिसके जरिए पॉर्नोग्राफी को कंट्रोल किया जाता है. किसी भी तरह की अश्लील सामग्री को प्रकाशित या ट्रांसमीशन करना गैरकानूनी है. इसके तहत 5 साल की सजा और तीन लाख का जुर्माना लगाया जा सकता है.

पॉर्न देखकर किया रेप

दरअसल उत्तराखंड हाईकोर्ट के फैसले के बाद दूरसंचार विभाग ने इन वेबसाइटों को बंद करने का आदेश जारी किया. रेप के एक मामले के जिरह के दौरान आरोपी ने बताया कि उसने पॉर्न वीडियो देखने के बाद पीड़िता के साथ बलात्कार किया. इसके बाद कोर्ट ने पॉर्न साइट्स को बैन करने का आदेश जारी किया.

पॉर्न रोकना आसान नहीं

मगर इंटरनेट का जाल इतना बड़ा है कि उसे पूरी तरह रोक पाना आसान नहीं लगता. मसलन इन वेबसाइटों पर प्रतिबंधित करने की बात सामने आने के बाद पॉर्नहब ने अपनी एक दूसरी वेबसाइट भारतीय दर्शों के लिए तैयार कर दी. इसकी जानकारी उन्होंने अपने ट्विटर पर भी दी.

पॉर्नहब की तरह की कई दूसरी वेबसाइटें है जो प्रतिबंध लगने के बाद भी देश में सेक्स वीडियो सामग्री उपलब्ध करवा देती है. आखिरकार यह कैसे संभव है. इसके लिए खानापूर्ति नहीं बल्कि कड़े कानून की जरूरत है.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: