9वीं पास तेजस्वी का इंजीनियर नीतीश को ‘ट्विटर ज्ञान चैलेंज’ कहा- ‘दिमाग रहेगा तब न?’

पटना। 9वीं पास बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री और फिलहाल नेता प्रतिपक्ष साथ ही लालू के चश्मो-चिराग ने इंजीनियरिंग पास बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को ‘ट्वीटर ज्ञान’ नहीं होने की बात कही है. 9वीं पास तेजस्वी यहीं नहीं रुके उन्होंने कहा कि पॉलिटिकल बयान देने के लिए ‘दिमाग’ चाहिए.

नीतीश को ‘ट्विटर ज्ञान चैलेंज’

ट्वीट करने के लिए थोड़ा तकनीकी ‘ज्ञान’ की भी जरुरत पड़ती है. फोन चलाना भी आना चाहिए. दरअसल तेजस्वी ये बताना चाह रहे थे कि वो नीतीश कुमार से ज्यादा स्मार्ट हैं. टेक्नीकली स्ट्रॉन्ग हैं, और बयान देने भी आता है. यानी बिहार की राजनीति तेजस्वी के आ जाने से ट्विटर बेस्ड हो गया है.

9वीं पास तेजस्वी, इंजीनियरिंग पास नीतीश

नीतीश कुमार के पास बिहार इंजीनियरिंग कॉलेज, पटना (अब राष्ट्रीय तकनीकी संस्थान, पटना) से इलेक्ट्रिक इंजीनियरिंग की डिग्री है. इनका पॉलिटिकल करियर संपूर्ण क्रांति आंदोलन से शुरू होता है. इसके बाद की जानकारी चाहिए तो आप गूगल पर सर्च कर सकते हैं. मगर तेजस्वी की सबसे बड़ी खासियत ये है कि वो लालू-राबड़ी के बेटे हैं. जमी-जमाई पार्टी है. माता-पिता दोनों मुख्यमंत्री रहे हैं. पहली बार चुनाव जीते और उपमुख्यमंत्री बन गए. मगर पढ़ाई-लिखाई में मैट्रिक तक पहुंच नहीं पाए. अब इंजीनियर नीतीश कुमार को 9वीं पास तेजस्वी ‘ट्वविटर’ चुनौती दे रहे हैं.

ये भी पढ़ें: बिहार: लालू का माली और मांझी का बेटा RJD से MLC कैंडिडेट

                लालू के यहां नेनुआ-सतपुतिया पहुंचाने वाले ‘कृषि मंत्री’ ने राबड़ी के साथ भरा पर्चा

ट्विटर पर नीतीश से क्यों चिढ़े तेजस्वी?

दरअसल पिछले दिनों नीतीश कुमार ने विधानसभा में कहा था कि वो बात-बात पर ट्वीट नहीं करते हैं. इसी बात को तेजस्वी ने पकड़ लिया है. पटना में अंबेडकर जयंती कार्यक्रम में तेजस्वी ने कहा कि नीतीश कुमार जी को इस बात की तकलीफ है कि लालू जी ट्विटर पर नीतीश कुमार के बाद आए, मगर लेकिन उनके फॉलोअर्स की तादाद उनसे कहीं ज्यादा है.

%d bloggers like this: