SANATAN DHARMA FOUNDATION: जानिए क्या है सनातन धर्म

0
761
Sanatan Dharma Foundation

तेलंगाना की राजधानी हैदराबाद में सोमवार को सनातन धर्म प्रतिष्ठान (Sanatan Dharma Foundation) का कार्यालय खोला गया है। बापूघाट में खुले इस कार्यालय का मिशन सनातन धर्म का पुनरुद्धार करना और हिंदूओं को एकजुट करना है। सनातन धर्म फाउंडेशन एक ऐसे धर्म स्थल का निर्माण करने जा रहा है जो न सिर्फ विश्व का सबसे बड़ा तीर्थ स्थान होगा बल्कि ज्ञान, पूजा और प्रार्थना का केंद्र भी होगा।

कार्यालय के उद्घाटन में शामिल हुए एसडीएफ (Sanatan Dharma Foundation) के फाउंडेशन ट्रस्टी सुदेश अग्रवाल ने बताया कि इसकी जरूरत क्यों पड़ी। इस दौरान यहां, वीएचपी के जिला अध्यक्ष के प्रतिनिधि, कई हिंदू संगठनों के कार्यकर्ता, स्टेट हेड भगवान सिंह श्योरान समेत कई जानी-मानी हस्तियां मौजूद रहीं।

Sanatan Dharma Foundation की जरूरत क्यों?

उन्होंने कहा कि आज तक हिंदूओं ने देवी-देवताओं के बड़े से बड़े मंदिर बनवाए लेकिन किसी ने केंद्रीय सनातन धर्म स्थल का निर्माण कभी नहीं किया। उन्होंने इसे हिंदू के पंथों और संप्रदायों में विभाजित होने का बड़ा कारण बताया है। उन्होंने कहा कि आज की युवा पीढ़ी हिंदू सनातन धर्म के बारे में भ्रांत है और इसे जल्द से जल्द ठीक करना जरूरी है। ज्यादा जानकारी के लिए आप एसडीएफ की वेबसाइट https://sanatandharmafoundation.com/ विजिट कर सकते हैं।

Read More:अब स्मार्ट बनेंगे बिहार के गांव, जानिए पंचायती राज विभाग किस तरह की देगा सुविधाएं

क्या करेगा सनातन धर्म फाउंडेशन

हिंदू यानी सनातन और सनातन यानी हिंदूओं का आधार। यही वजह है कि (Sanatan Dharma Foundation) का इसे परिभाषित करना जरूरी है ताकि आज की युवा पीढ़ी सनातन को बेहतर तरीके से समझ सके और इसे अपना सके। सही मूल्यों, कर्तव्यों और जिम्मेदारियों का ज्ञान ही आनेवाली पीढ़ियों का चरित्र निर्माण कर सकेगा। इसके जरिए-

  • सनातन धर्म का पुनरुत्थान होगा
  • मिलजुल कर शांतिपूर्वक रहने का संदेश मिलेगा
  • सनातन धर्म की जानकारी मिलेगी
  • सनातन संदेश का प्रचार-प्रसार होगा
  • सनातन धर्म का केंद्रीय मार्गदर्शक प्राधिकरण बनेगा
  • विश्व को एक नई धार्मिक विचारधारा मिलेगी जो भारत को विश्व से अलग विशेष स्थान देगा

Read More: सचिन तेंदुलकर की बेटी सारा का फोटो वायरल, लंदन में करती…

सनातन धर्म स्थल की विशेषताएं

और आइये अब जान लेते हैं कि मुंबई में तकरीबन 8 हजार एकड़ में बनने वाले सनातन धर्म स्थल (Sanatan Dharma Foundation) की विशेषताएं क्या होंगी….नदी के तट पर बसाए जा रहे पवित्र नगरी में सनातन धर्म, हिंदू रीति रिवाजों, संस्कारों के अध्ययन केंद्र होंगे, गुरुकुल की व्यवस्था भी होगी और सनातन धर्म की शिक्षा के लिए विश्वविद्यालय तक होंगे, योग केंद्र होगा, वेलनेस सेंटर होगा और तीर्थ यात्रियों के ठहरने की व्यवस्था भी होगी।

यहां हिंदू मंदिरों का संग्रह, सनातन की उत्पत्ति और उन्नति दर्शाता संग्रहालय होगा, अन्य पंथों के पूजा स्थान ही नहीं विदेशों के हिंदू मंदिर भी यहां दिखेंगे। सबसे केंद्र में होगा केंद्रीय गृह जहां 400 फीट ऊंचा सनातन धर्म स्तंभ स्थापित किया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.