होम

CBI घूसखोरी मामला क्या है? वर्मा-अस्थाना विवाद में दांव पर ‘साख’

CBI घूसखोरी मामला क्या है? वर्मा-अस्थाना विवाद में दांव पर ‘साख’

गरमा-गरम, पॉलिटिक्सम्, होम
दिल्ली। देश की सबसे बड़ी जांच एजेंसी CBI के भीतर 'दंगल' चल रहा है. 2 बड़े अफसरों की वजह से सुर्खियों में है. सीबीआई के विशेष निदेशक राकेश अस्थाना पर घूसखोरी और फर्जीवाड़े का FIR दर्ज किया गया है. CBI के निदेशक आलोक वर्मा और विशेष निदेशक राकेश अस्थाना में पिछले कुछ दिनों से विवाद चल रहा था. मामला दर्ज होने के बाद CBI ने राकेश अस्थाना के जिम्मेदारियों में बदलाव कर दिया है. CBI के भीतर 'दंगल' सीबीआई के भीतर जारी 'दंगल' अब कोर्ट पहुंच चुका है. दिल्ली हाईकोर्ट ने CBI के विशेष निदेशक राकेश अस्थाना की गिरफ्तारी पर 29 अक्टूबर तक रोक लगा दी है. कोर्ट ने तब तक आरोपी (राकेश अस्थाना) के मोबाइल और लैपटॉप समेत सभी इलेक्ट्रॉनिक उपकरण जब्त करने को कहा है. 22 अक्टूबर को राकेश अस्थाना पर रिश्वतखोरी का मामला दर्ज किया गया है. होईकोर्ट ने फिलहाल राकेश अस्थाना की गिरफ्तारी पर तो रोक लगा दी मगर FIR को खार
वो हाईस्पीड ‘कातिल’ ट्रेन कौन सी थी? जो 10-12 सेकेंड में दर्जनों लोगों को चिरते हुए निकल गई

वो हाईस्पीड ‘कातिल’ ट्रेन कौन सी थी? जो 10-12 सेकेंड में दर्जनों लोगों को चिरते हुए निकल गई

गरमा-गरम, पॉलिटिक्सम्, होम
दिल्ली। अमृतसर की वो 'कातिल' ट्रेन कौन सी है?. कौन सी ट्रेन है? जो 10 से 12 सेकेंड में दर्जनों लोगों को चीरते हुए निकल गई. कौन सी ट्रेन ने जश्न को मातम में बदल दी. कई लोगों को जिंदगी भर के लिए अपंग बना दिया. वो कातिल ट्रेन है जालंधर-अमृतसर डीएमयू. ट्रेन नंबर 74943. हादसे के वक्त ये ट्रेन जालंधर से अमृतसर जा रही थी. वो 'कातिल' ट्रेन ये भी पढ़ें: अमृतसर रेल हादसा: ‘नरसंहार’ करनेवाली ट्रेन के ड्राइवर ने क्या कहा? जानें अमृतसर रेल हादसे में 60 से ज्यादा लोगों ने जान गंवाई. जबकि 50 से ज्यादा लोग अस्पतालों में भर्ती हैं. हादसे के वक्त ट्रेन की रफ्तार 91 किलोमीटर प्रति घंटा थी. और वो 'कातिल' ट्रेन अमृतसर जा रही थी. लोगों की भीड़ पर जब ड्राइवर की नजर पड़ी तो उसने स्पीड कम करने की कोशिश जरूर की, मगर इतना स्पीड था कि सिर्फ 68 किलोमीटर प्रति घंटा पर ही कर पाया. तब तक काफी देर हो चुकी थी.
अमृतसर रेल हादसा: किस बात की जांच? हमारी गलती नहीं- रेल राज्य मंत्री

अमृतसर रेल हादसा: किस बात की जांच? हमारी गलती नहीं- रेल राज्य मंत्री

गरमा-गरम, पॉलिटिक्सम्, होम
दिल्ली। अमृतसर रेल हादसे में रेलवे की कोई गलती नहीं है. रेल राज्य मंत्री मनोज सिन्हा ने कहा कि 'हादसे की किसी भी तरह की जांच नहीं कराई जाएगी. जहां पर हादसा हुआ वो जगह रेलवे फाटक से 300 मीटर की दूरी पर है. इस घटना में रेलवे की कोई गलती नहीं है. कानून व्यपस्था राज्य सरकार का काम है. लोगों को रेलवे ट्रैक पर जमा नहीं होना चाहिए. हादसे के वक्त लोग रेल ट्रैक पर थे'. 'रेलवे की कोई गलती नहीं' मनोज सिन्हा ने कहा कि रेलवे को कार्यक्रम की कोई सूचना नहीं दी गई थी. इस मामले पर राजनीति नहीं होनी चाहिए. ये काफी दुखद घटना है. ट्रेन के स्पीड को लेकर हो रहे विवाद पर मनोज सिन्हा ने कहा कि ड्राइवरों को पहले ही बता दिया जाता है कि कहां स्पीड कम करनी है. Ppl should restrain from organising such events near tracks in future.Drivers are given specific instructions on where to slow down.There was a curve,
अमृतसर रेल हादसा: ‘रावण’ की भी मौत, मां ने की बहू के लिए नौकरी की मांग

अमृतसर रेल हादसा: ‘रावण’ की भी मौत, मां ने की बहू के लिए नौकरी की मांग

गरमा-गरम, पॉलिटिक्सम्, होम
दिल्ली। अमृतसर रेल हादसे में 'रावण' की भी मौत हो गई. देशभर में रावण दहन की खुशियां मनाई गई, मगर अमृतसर गमगीन है. दरअसल रेल हादसे में जिन 62 लोगों की मौत हुई है उसमें चौड़ा फाटक के पास रावण का किरदार निभाने वाले दलबीर सिंह की भी मौत हो गई. रामलीला के दौरान दलबीर पहले राम का किरदार निभाते थे, लेकिन पहली बार दोस्तों के कहने पर रावण का किरदार निभा रहे थे. 'रावण' की भी मौत रेल हादसा अमृतसर और मनावला के बीच फाटक नंबर 27 पास हुआ. ये हादसा जिस वक्त हुआ, उस वक्त वहां रावण दहन देखने के लिए लोगों की भारी भीड़ जुटी हुई थी. इस रावण दहन में पंजाब सरकार के मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू की पत्नी नवजोत कौर भी मौजूद थीं. बताया जा रहा है रामलीला में रावण का रोल करनेवाले दलबीर सिंह उस वक्त घटनास्थल पर ही मौजूद थे. दलबीर की 8 माह की बेटी तेज स्पीड से आती ट्रेन की चपेट में आने से 'रावण' की भी मौत (दलबीर सिंह
अमृतसर रेल हादसा: ‘नरसंहार’ करनेवाली ट्रेन के ड्राइवर ने क्या कहा? जानें

अमृतसर रेल हादसा: ‘नरसंहार’ करनेवाली ट्रेन के ड्राइवर ने क्या कहा? जानें

गरमा-गरम, पॉलिटिक्सम्, होम
दिल्ली। रावण दहन देखने आए लोगों की लाशें बिछानेवाली ट्रेन के ड्राइवर ने सफाई दी है. जोड़ा फाटक के पास हुए हादसे में 60 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई. ये सभी लोग रेलवे ट्रैक के पास चल रहे रावण दहन कार्यक्रम को देखने आए थे. जिस वक्त अमृतसर रेल हादसा हुआ उस वक्त कम से कम 300 लोग ट्रैक पर मौजूद थे. अमृतसर रेल हादसा रावण के पुतले में पटाखे फुटने के बाद लोगों पीछे हटे और रेलवे ट्रैक पर आते चले गए. इसी बीच जालंधर-अमृतसर लोकल ट्रेन आई और लोगों को रौंदते हुए चली गई. इससे ठीक पहले ट्रैक से अमृतसर-हावड़ा एक्सप्रेस गुजरी थी. अमृतसर रेल हादसा तो हो गया मगर अब रेलवे के अधिकारी सफाइ दे रहे हैं. उनका कहना है कि 'रावण दहन देखने के लिए लोगों का रेलवे ट्रैक पर जमा होना साफ तौर पर अतिक्रमण का मामला है. इस कार्यक्रम के लिए स्थानीय अधिकारी, रेलवे से परमिशन नहीं लिए थे'. अमृतसर में जिस वक्त हादसा हुआ उस वक्
मुंबई के पृथ्वी शॉ पर बिहार के लोग क्यों मना रहे हैं जश्न? जानें

मुंबई के पृथ्वी शॉ पर बिहार के लोग क्यों मना रहे हैं जश्न? जानें

गरमा-गरम, फाउल-प्ले, होम
दिल्ली। अपने डेब्यू टेस्ट मैच में पृथ्वी शॉ ने शतक जड़कर सबसे युवा भारतीय और चौथे युवा खिलाड़ी बने. भारत ने वेस्टइंडीज के खिलाफ पहले टेस्ट मैच में पहले दिन 4 विकेट खोकर 364 रन बनाया. करियर का पहला मैच खेल रहे पृथ्वी ने 18 वर्ष 329 दिन की उम्र में 99 गेंद पर शतक पूरा किया. उन्होंने 154 गेंद में 19 चौकों की मदद से 134 रन बनाए. इसी के साथ पृथ्वी की कामयाबी पर झूमा बिहार. पृथ्वी की कामयाबी पर झूमा बिहार पृथ्वी का जन्म मुंबई में हुआ है लेकिन बिहार से उनका गहरा नाता है. 18 साल की उम्र में अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट करियर की शुरुआत करनेवाले पृथ्वी शॉ की हर जगह तारीफ हो रही है. पृथ्वी शॉ ने वेस्टइंडीज के खिलाफ टेस्ट डेब्यू में शतक जड़ा. मगर सवाल उठता कि इस नौजवान क्रिकेटर की कामयाबी पूरे देश के लिए शान है तो आखिर पृथ्वी की कामयाबी पर झूमा बिहार, क्यों कह रहे हैं. दरअसल पृथ्वी शॉ बिहार के गया जिल
कांग्रेस से ‘बिदकीं’ मायावती, बीजेपी को होगा बंपर चुनावी फायदा!

कांग्रेस से ‘बिदकीं’ मायावती, बीजेपी को होगा बंपर चुनावी फायदा!

गरमा-गरम, पॉलिटिक्सम्, होम
दिल्ली। 2019 के चुनाव से पहले विपक्षी एकता का गुब्बारा फूट गया है। महागठबंधन बनने से पहले ही बिखर गया है। कांग्रेस से मायावती ने दूरी बनाई। जिसका सीधा फायदा हो चुनावी राज्यों में बीजेपी होगी। क्योंकि मायावती के अलग होने से दलित वोटों का बिखराव होगा, जिसका लाभ बीजेपी उठाएगी। कांग्रेस से मायावती ने दूरी बनाई मायावती ने कहा है कि कांग्रेस बीजेपी से डरी हुई है और मुस्लिमों को टिकट देने से डरती है। मायावती ने कहा कि हम हमेशा से बीजेपी को सत्ता से बाहर रखना चाहते हैं, इसलिए हमने क्षेत्रीय दलों से गठबंधन किया है। एमपी और राजस्थान में कांग्रेस का इरादा बीजेपी को हराने की नहीं है। बल्कि वह उनके साथ दोस्ती रखने वाली पार्टियों को ही हानि पहुंचाना चाहती है। उन्होंने साफ कर दिया है कि हम राजस्थान और एमपी में क्षेत्रीय दलों से गठबंधन करेंगे या फिर अकेले चुनाव लड़ेंगे। मगर कांग्रेस के साथ मिलकर चुन
तनुश्री-नाना विवाद: ये बॉलीवुड हस्तियां दे रही हैं तनुश्री दत्ता का साथ

तनुश्री-नाना विवाद: ये बॉलीवुड हस्तियां दे रही हैं तनुश्री दत्ता का साथ

गरमा-गरम, मायानगरी, होम
मुंबई। अभिनेत्री तनुश्री दत्ता द्वारा लगाए गए आरोप पर बॉलीवुड के ज्यादातर दिग्गज हस्तियों ने चुप्पी साध ली है। लेकिन कुछ लोग खुल कर तनुश्री का सपोर्ट कर रहे हैं। तनु भी बॉलीवुड स्टारों द्वारा इस मामले से दूरी बनाए जाने को लेकर मायूस हैं। लेकिन आइए हम आपको बताते हैं कि बॉलीवुड के कौन-कौन लोग तनुश्री दत्ता के साथ हैं। तनुश्री का सपोर्ट बॉलीवुड अभिनेता वरुण धवन ने कहा है कि ''मुझे लगता है कि वर्कप्लेस में सम्मान मिलना जरूरी है चाहे वो एक महिला हो, पुरुष हो या फिर बच्चा हो। हमें इंडस्ट्री को सुरक्षित बनाना चाहिए। अगर इस मुद्दे पर कोई बोल रहा है तो हमें उसकी बातों को सुनना चाहिए। ऐसा कुछ बोलने के लिए काफी हिम्मत चाहिए और उनकी हिम्मत तारीफ के काबिल है''। सबसे पहले स्वरा और फरहान वहीं, तनुश्री का सपोर्ट करनेवालों में अभिनेत्री काजोल भी हैं. उन्होंने कहा था कि ''उन्होंने जो कहा वो वाकई हकी
इन अभिनेत्रियों ने भी झेला है बॉलीवुड में हैरसमेंट, ममता कुलकर्णी भी हुईं हैं शिकार

इन अभिनेत्रियों ने भी झेला है बॉलीवुड में हैरसमेंट, ममता कुलकर्णी भी हुईं हैं शिकार

गरमा-गरम, मायानगरी, होम
मुंबई। तनुश्री दत्ता के द्वारा नाना पाटेकर पर लगाए गए आरोपों के बाद बॉलीवुड में हैरसमेंट की बात पर फिर से चर्चा होने लगी है। तनुश्री से पहले भी बॉलीवुड की कई अभिनेत्रियों ने बॉलीवुड इंडस्ट्री में हैरसमेंट झेला है। यानी बॉलीवुड में हैरसमेंट की कहानी काफी पुरानी है. तनुश्री 2008 में 'हॉर्न ओके प्लीज' फिल्म की शूटिंग के दौरान नाना पाटेकर पर बदसलूकी का आरोप लगाया है। साथ ही निर्देशक विवेक अग्निहोत्री पर भी शोषण का आरोप लगाया है। तनुश्री का आरोप है कि फिल्म 'चॉकलेट' की शूटिंग के दौरान विवेक ने उत्पीड़न की कोशिश की थी। बॉलीवुड में हैरसमेंट की कहानी बॉलीवुड में हैरसमेंट की कहानी हम आपको बताते हैं. बॉलीवुड में तनुश्री से पहले कौन-कौन अभिनेत्रियों ने इसे झेला है और किन-किन निर्देशकों पर ये आरोप लगे हैं। शर्लिन चोपड़ा, ममता कुलकर्णी, पायल रोहतगी, गीतिका त्यागी और प्रीती जैन जैसी कई अभिनेत्रियो
IMF की प्रमुख अर्थशास्त्री गीता गोपीनाथ कौन हैं? आखिर क्यों हो रही इतनी चर्चा…

IMF की प्रमुख अर्थशास्त्री गीता गोपीनाथ कौन हैं? आखिर क्यों हो रही इतनी चर्चा…

गरमा-गरम, रेहड़ी-पट्टी, होम
दिल्ली। केरल की बेटी गीता गोपीनाथ को अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) ने प्रमुख अर्थशास्त्री नियुक्त किया है. मौरीस ओब्सफेल्ड की जगह गीता को ये जिम्मेदारी दी गई है. मौरीस इस साल के आखिर में रिटायर हो जाएंगे. आईएमएफ के प्रमुख क्रिस्टीन लगार्डे ने गीता के बारे में कहा कि वो दुनिया के बेहतरीन अर्थशास्त्रियों में एक हैं, उनके पास शानदार अकादमिक ज्ञान, बौद्धिक क्षमता और व्यापक अंतर्राष्ट्रीय अनुभव है. गीता से पहले आरबीआई के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन भी आईएमएफ में प्रमुख अर्थशास्त्री रह चुके हैं. केरल की बेटी गीता गोपीनाथ गीता का जन्म 1971 में केरल में हुआ था. स्कूली पढ़ाई उन्होंने वहीं से की. फिर कॉलेज की पढ़ाई के लिए दिल्ली आ गईं. लेडी श्रीराम कॉलेज से उन्होंने ग्रेजुएशन की डिग्री लीं. फिलहाल हावर्ड यूनिवर्सिटी में इंटरनेशनल स्टडीज की प्रोफेसर हैं. केरल की बेटी गीता गोपीनाथ ने दिल्ली के स्