CWG 2018: अनुभव का कोई जोर नहीं, सायना ने सिंधु को हराया, गोल्ड और सिल्वर दोनों भारत में

गोल्ड कोस्ट। सीनियर…सीनियर होता है. अनुभव का कोई जोर नहीं. कॉमनवेल्थ गेम्स के बैडमिंटन महिला सिंगल्स मुकाबले में इसका नजारा दिखा. जब सायना नेहवाल ने पीवी सिंधु को हरा दिया. अच्छी बात ये रही कि गोल्ड और सिल्वर दोनों भारत की झोली में ही आया.

सायना ने सिंधु को हराया

गोल्ड मेडल का आखिरी मुकाबला भारत की या यूं कहें कि हैदराबाद की सायना नेहवाल और पीवी सिंधु के बीच हुआ. सायना ने सिंधु को 21-18, 23-21 से हराकर गोल्ड पर कब्जा किया. इसके साथ ही कॉमनवेल्थ गेम्स में 2 गोल्ड मेडल जीतनेवाली पहली भारतीय खिलाड़ी बनीं. कॉमनवेल्थ गेम्स के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ कि बैडमिंटन के फाइनल मुकाबले में 2 भारतीय खिलाड़ी आमने-समाने थीं.

दोनों के बीच पहला सेट 22 मिनट तो दूसरा सेट 34 मिनट चला. इस दौरान भारत के लोगों की निगाह टीवी सेट पर लगी रही. एक-एक प्वाइंट के लिए दोनों के बीच जबर्दस्त टक्कर देखने को मिली.

कॉमनवेल्थ गेम्स का आज 11वां और आखिरी दिन है. दिन की शुरुआत में टेबल टेनिस के मिक्सड डबल्स मुकाबले में भारत को ब्रॉन्ज मेडल मिला. मानिका बत्रा और जी साथियान की जोड़ी ने हमवतन अचंत शरत कमल और मौमा दास की जोड़ी को मात दी. इस कॉमनवेल्थ गेम्स में मनिका बत्रा का ये चौथा मेडल है.

भारत ने अब तक 62 मेडल जीता है. जिसमें 26 गोल्ड, 17 सिल्वर और 19 ब्रॉन्ज शामिल है. मेडल तालिका में भारत तीसरे नंबर बना हुआ है

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: