आपके जीवन का ‘सबसे बड़ा अफसोस’ क्या है? माइक्रोसॉफ्ट वाले बिल गेट्स ने तो बता दिया

3
8
दौलत और शोहरत वाला आदमी

दिल्ली। कई बार लगता है कि दौलत और शोहरत वाला आदमी है तो इसके जीवन में कोई कमी नहीं है. ये जो चाहेगा उसे हासिल कर लेगा. अपने जीवन में इसने बहुत कुछ हासिल भी किया है. पैसे और शोहरत की चाहत सबको होती है. कोई से मिस नहीं करना चाहता है. मगर हर किसी के जीवन में कोई न कोई अफसोस जरूर होता है. चाहे वो बड़ा आदमी हो या छोटा.

दौलत और शोहरत वाला आदमी

तो आपके जीवन में क्या अफसोस है सोच लीजिए. आखिर आपने अब तक क्या मिस किया है?. जिसे नहीं कर पाने का अफसोस अब तक आपको है. शायद ये अफसोस जीवन भर के लिए है. किसी के लिए पैसा होता है तो किसी के लिए प्यार होता है. किसी का पढ़ाई होता है तो किसी के लिए नौकरी.

सबसे बड़ा अफसोस- पार्टी नहीं कर सके

माइक्रोसॉफ्ट के को-फाउंडर बिल गेट्स से हावर्ड यूनिवर्सिटी के इवेंट में एक स्टूडेंट ने अफसोस वाला सवाल पूछा था. छात्र का सवाल था कि आपकी जिंदगी का सबसे बड़ा अफसोस क्या है?.

ये भी पढ़ें: पाकिस्तान बन गया ‘गधों का देश’, आखिर ऐसा क्या हुआ…?

इस सवाल के जवाब में बिल गेट्स ने कहा कि पढ़ाई छोड़ने से ज्यादा अफसोस इस बात का है कि वो अपने जीवन में पार्टी नहीं कर सके. न ही फुलबॉल खेल सके. वो अब इन सब बातों को बहुत मिस करते हैं.

‘सोशल नहीं होने का मलाल रहेगा’

हावर्ड स्टूडेंट डेनिका गुर्टिरेज ने पूछा था कि उन्हें किस बात पर सबसे ज्यादा अफसोस है?. इसके जवाब में बिल गेट्स ने कहा कि वो स्टूडेंट लाइफ में सोशल नहीं हो पाए. उन्हें इस बात का हमेशा मलाल रहेगा.

गेट्स ने कहा कि माइक्रोसॉफ्ट के पूर्व सीईओ स्टीव बॉल्मर ने अक्सर उन पर दबाव बनाते थे कि बिरादरी के लोगों के साथ पार्टी में जाना चाहिए. गेट्स ने कहा कि वो नॉन-सोशल नहीं है, लेकिन पार्टियों में उन्हें मजा नहीं आता था.

ये भी पढ़ें: पेश है सर्जिकल स्ट्राइक की कहानी, लंदन से मोदी की जुबानी

बाल्मर कहते थे कि वे मुझे इन चीजों से परिचित कराएंगे. आखिरकार उन्होंने मुझे ड्रिंक के लिए मना ही लिया.

माइक्रोसॉफ्ट के नींव रखनेवाले बिल गेट्स अब 62 साल के हैं. कई सामाजिक कार्यों में जुटे रहते हैं. इंडिया में भी उनका फाउंडेशन कई काम कर रहा है. खासकर ग्रामीण इलाकों में.