आईपीएल के फाइनल में फिर बना है ये अद्भुत संयोग!

आईपीएल के फाइनल में फिर बना है ये अद्भुत संयोग!

दिल्ली। सनराइजर्स हैदराबाद ने शुक्रवार को कोलकाता नाइट राइडर्स को 14 रनों से हराकर इंडियन प्रीमियर लीग 11 के फाइनल में जगह बना लिया है। जहां उसका मुकाबला 27 मई यानि आज को मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में चेन्नई सुपर किंग्स के साथ होगा।

लेकिन सीजन 11 में से यह छठा मौका है, जब टूर्नामेंट का फाइनल मुकाबला पॉइंट्स टेबल में टॉप पर रहीं दो टीमों के बीच खेला जाएगा।

मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में फाइनल

पहली बार ऐसा संयोग 2011 में देखने को मिला था, जब रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर और चेन्नई सुपर किंग्स फाइनल में पहुंची थी। रोचक बात यह है कि धोनी की कप्तानी वाली चेन्नई सुपर किंग्स की टीम छह में से चार बार शामिल रही है। उसके बाद मुंबई इंडियंस की टीम तीन बार ऐसा करने में सफल रही है।

यदि किसी प्रकार की संदेह है तो आपको बता दें कि इंडियन प्रीमियर लीग के प्वाइंट टेबल में टॉप पर रहने वाली दो टीमों को फाइनल में पहुंचने के लिए दो मौके मिलते हैं। टूर्नामेंट की फाइनल में टीमें क्वालिफायर-1, एलिमिनेटर और क्वालिफायर-2 से निर्धारित होती हैं।

पहला क्वॉलिफायर पॉइंट टेबल में टॉप पर रहने वाली दो टीमों के बीच होता है। इस मैच की विजेता टीम फाइनल में पहुंच जाती है, जबकि हारी हुई टीम एलिमिनेटर से क्वॉलिफायर-2 खेलती है। अगर वह जीत जाती है तो फाइनल में पहुंच जाती है।

छठी बार बना ऐसा संयोग

ऐसा पहली बार रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर और चेन्नई सुपर किंग्स के साथ 2011 में हुए फाइनल में हुआ था। फिर 2013 में चेन्नई सुपर किंग्स और मुंबई इंडियंस के बीच हुए फाइनल में ऐसा था।

तीसरी बार 2014 में किंग्स इलेवन पंजाब और कोलकाता नाइट राइडर्स के बीच हुए फाइनल मुकाबले में भी ऐसा हुआ था। 2015 में चैन्नई सुपर किंग्स और मुंबई इंडियंस के बीच फाइनल मुकाबला में भी ऐसा संयोग था।

2017 में मुंबई इंडियंस और राइजिंग पुणे सुपरजायंट में भी ऐसा ही हुआ था। छठी बार यह संयोग फिर 2018 के फाइनल में सनराइजर्स हैदराबाद और चेन्नई सुपर किंग्स के बीच बना है।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: