राशिद ने दिखाया शानदार खेल, इन 5 वजहों से जीती हैदराबाद की टीम

0
26
राशिद ने दिखाया शानदार खेल, इन 5 वजहों से जीती हैदराबाद की टीम

राशिद ने दिखाया शानदार खेल, इन 5 वजहों से जीती हैदराबाद की टीम

दिल्ली। कोलकाता नाइट राइडर्स को हराकर सनराइजर्स हैदराबाद ने फाइनल में अपनी जगह पक्की कर ली है। आईपीएल 2018 के दूसरे क्वालीफायर मैच में सनराइजर्स हैदराबाद की टीम ने बेहद रोमांचक मुकाबले में कोलकाता नाइट राइडर्स को 13 रन से हरा दिया।

इस जीत के साथ ही हैदराबाद की टीम आईपीएल 2018 के फाइनल में भी पहुंच गई है। फाइनल में अब टीम का मुकाबला 27 मई को चेन्नई सुपर किंग्स के साथ है।

क्वालीफायर 2 में कई जगह ऐसा लगा कि मैच कोलकाता की पकड़ में है और हैदराबाद हार जाएगा। लेकिन फिर टीम ने शानदार वापसी की और मुकाबले को जीत लिया। आइए हम जीत के आपको वो पांच कारण बताते हैं, जिसकी वजह से सनराइजर्स फाइनल में पहुंची है।

जीत का पहला कारण

सबसे पहले बात राशिद खान के हरफनमौला प्रदर्शन की करते हैं। राशिद ने बेहद दबाव में गेंदबाजी करते हुए 10 गेंदों में 34 रन बनाए। इसके साथ ही गेंदबाजी करते हुए चार ओवर में 19 रन देकर तीन विकेट झटक लिए।

जीत का दूसरा कारण

इसके साथ ही दूसरी वजह ये रही कि हैदराबाद की टीम को शिखर धवन और रिद्धिमान साहा ने बेहतरीन शुरुआत दिलाई। दोनों बल्लेबाजों ने क्रीज पर उतरकर शानदार बल्लेबाजी की और पहले क्रिकेट के लिए 56 रनों की साझेदारी की। दोनों की इस साझेदारी ने एक अच्छे स्कोर की बुनियाद रखी।

जीत का तीसरा कारण

वहीं, शाकिब ने भी अपनी टीम को मैच जिताने में अहम भूमिका निभाई। शाकिब ने बल्लेबाजी में 24 गेदों में 28 रनों की पारी खेली। वहीं, बेहतरीन गेंदबाजी करते हुए तीन ओवर में 16 रन देकर कोलकाता के सबसे बड़े बल्लेबाज दिनेश कार्तिक को बोल्ड किया।

जीत का चौथा कारण

इसके साथ ही फाइनल तक पहुंचने में टीम के कप्तान केन विलियमसन का सबसे बड़ा रोल है। विलियमसन अपनी रणनीति से विरोधी टीमों में खौफ पैदा कर देते हैं। कोलकाता के खिलाफ भी उन्होंने ऐसा ही किया।

जीत का पांचवां कारण

हैदराबाद की जीत में कोलकाता ने भी अहम भूमिका निभाई है। सुनील नरेन से लेकर क्रिस लिन तक हर बल्लेबाज ने अपने विकेट फेंके।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.