Bengal Election: क्या टीएमसी के सर्वे में जीत रही है बीजेपी? जानिए ‘क्लबहाउस’ पर क्या कहा प्रशांत किशोर ने

0
145
Bjp win

बीजेपी आईटी सेल के प्रमुख अमित मालवीय (Amit Malviya) ने ट्वीट कर इस बात का दावा किया है कि क्लबहाउस (Clubhouse) की एक पब्लिक चैट पर ममता बनर्जी के चुनावी रणनीतिकार ने स्वीकार किया है कि टीएमसी के आंतरिक सर्वे में भी बीजेपी (Bjp win) जीत रही है। अमित मालवीय के मुताबिक दीदी के चुनावी रणनीतिकार को इस बात का जरा भी अंदाजा नहीं था कि उनकी चैट ओपन है और इसे कई लोग सुन रहे हैं। इस दौरान चुनावी रणनीतिकार ये कह रहे थे वाम दलों, कांग्रेस और टीएमसी ने हालात को देखते हुए 20 सालों से मुस्लिम तुष्टीकरण (Muslim appeasement) को तवज्जो दी है। पीके को बिलकुल अहसास नहीं था कि लोग उन्हें सुन रहे हैं और काफी गुस्से में हैं।

दीदी के चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर (Prashant Kishor) ने ये भी माना कि मोदी के पक्ष में वोटों का ध्रुवीकरण हो रहा है, टीएमसी के खिलाफ एंटी-इनकंबेंसी है और दलित (जिनकी आबादी तकरीबन 27 फीसदी है) भी बीजेपी (Bjp win) को वोट देंगे।

बंगाल में मोदी के पक्ष में ध्रुवीकरण (Bjp win)

बता दें कि अमित मालवीय (Amit Malviya) का दावा तब आया है जब आज बंगाल में चौथे चरण का मतदान हो रहा है। मालवीय के मुताबिक अपने चैट में प्रशांत किशोर ने माना कि मोदी बंगाल में काफी लोकप्रिय हैं और इस बारे में कोई दो राय या शंका नहीं है। देश भर में लोग मोदी को पसंद करते हैं। अमित मालवीय के मुताबिक प्रशांत किशोर ने चैट में माना कि (Bjp win) टीएमसी के खिलाफ एंटी इनकंबेंसी है। ध्रुवीकरण सच है। और बीजेपी की चुनावी मशीनरी के लिए एससी वोट बड़ा फैक्टर है।

अमित मालवीय (Amit Malviya) ने ट्वीट पर ये भी बताया कि कैसे अनजाने में ही प्रशांत किशोर काफी कुछ कह गए। उन्होंने माना की बीजेपी (Bjp win) के पास जमीनी कैडर है। मतुआ समुदाय का सारा वोट बीजेपी को ही जा रहा है। बंगाल में (मतुआ समुदाय) दलित वोट बैंक तकरीबन 27 फीसदी है।  

कब चुप हो गए प्रशांत किशोर?

पूरी दुनिया से निपटने लायक कैसे बना चीन? ‘अमेरिका फर्स्ट’ की…

बीजेपी आईटी सेल के प्रमुख (Amit Malviya) ने बताया कि जब टीएमसी के चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर को इस बात का अहसास हुआ कि क्लबहाउस का रुम ओपन है और उनकी बातों को न सिर्फ कुछ पत्रकार सुन रहे हैं बल्कि बड़ी संख्या में लोग भी उस चैट रुम में मौजूद हैं तो वो चौंक गए। अमित मालवीय के मुताबिक जैसे ही उन्हें अंदाजा हुआ कि लोग बड़ी संख्या में उन्हें सुन रहे हैं और उनकी चैट (Bjp win) पब्लिक डोमेन में जा चुकी है तो उन्होंने पुछा कि – इज दिस चैट ओपन? और फिर क्लबहाउस चैट रुम में सन्नाटा पसर गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.