मनीषा दयाल: साधारण लड़की से हाई-प्रोफाइल पॉवर फुल वुमन का सफर कैसा रहा?

manisha dayal profile simple girl to powerful woman

पटना। मनीषा दयाल के राज़ को पुलिस खंगालने में जुटी है, मगर मीडिया वाले उसके हाई-प्रोफाइल कनेक्शन ढूंढने में जुटे हैं. हाई-प्रोफाइल लाइफ के पीछे का सच और इनकम को लेकर कनेक्शन की पड़ताल की जा रही है. ऐसे में सवाल उठता है कि आखिर एक साधारण लड़की से हाई-प्रोफाइल पॉवर फुल वुमन का सफर कैसा रहा? तो जानते हैं सफर-ए-मनीषा

सफर-ए-मनीषा

मनीषा दयाल के ‘आसरा कांड’ से पहले उसे सिर्फ पटना के हाई-प्रोफाइल लोग ही जानते थे. मगर फिलहाल मनीषा मीडिया में छाई हुई है. एक से बढ़कर एक कहानियां सामने आ रही है. तकरीबन सभी पार्टियों के नेताओं के साथ उसके फोटो हैं. मनीषा दयाल गया के एपी कॉलोनी की रहनेवाली है. गया के पेट्रोल पंप कारोबारी विजय दयाल की बेटी है. गया के क्रेन स्कूल से 12वीं तक की पढ़ाई करने के बाद मेडिकल की तैयारी करने के लिए 1995 में पटना आई.

मॉडलिंग

manisha dayal profile simple girl to powerful woman

ये भी पढ़ें: पटना में भी ‘मुजफ्फरपुर कांड’? आसरा होम्स की कोषाध्यक्ष मनीषा दयाल कौन हैं?

पटना आते ही उसने मॉडलिंग को करियर बनाने के बारे में सोचा. मेडिकल की पढ़ाई बीच में छोड़कर मॉडलिंग में किस्मत आजमाने लगी. कुछ दिनों के लिए मुंबई भी गई. मगर कुछ खास कामयाबी नहीं मिलने पर जल्दी ही पटना वापस आ गई.

एनजीओ

पटना लौटने के बाद वो एक एनजीओ से जुड़ गई. कार्यक्रमों में शिरकत करने लगी. इस दौरान उसकी जान-बहचान नेताओं, अधिकारियों सहित कई नामचीन हस्तियों से हुई.

शादी

manisha dayal profile simple girl to powerful woman

1996 में मनीषा की शादी पटना सिटी के कारोबारी राजीव वर्मा उर्फ राजू वर्मा से हो गई. दंपति के 2 बच्चे हुए. पति का कपड़ा का कारोबार है.

चिरंतन

शादी के बाद भी मनीषा एनजीओ का काम करती रही. राजनीतिक गलियारों में आना-जाना लगा रहा. चैरिटी के नाम पर वो शहर में बड़े-बड़े आयोजन कराती. इसी दौरान उसकी नजदीकी पटना के निजी स्कूल संचालक बेटे चिरंतन से बढ़ी.

सीसीएल

पटना के मोइनुल हक स्टेडियम में 2 साल पहले मनीषा दयाल और उसके सहयोगी चिरंतन ने एक बड़े बिल्डर के सहयोग से कॉरपोरेट क्रिकेट लीग (सीसीएल) का आयोजन किया था. इसके बाद से मनीषा की जान-पहचान नजदीकियां में बदल गई. कई बड़े प्रशासनिक अधिकारियों, बिजनेसमैन, महिला उद्यमियों से मुलाकात हुई.

manisha dayal profile simple girl to powerful woman

फाउंडेशन

पिछले साल उसने अनुमया ह्यूमन सिरोर्स फाउंडेशन का गठन किया और मार्च 2018 में राजीव नगर में आसरा गृह के संचालन शुरू किया. मनीषा दयाल ने पटना पॉश इलाके बोरिंग रोड एक अपार्टमेंट में कॉरपोरेट ऑफिस खोल रखा था, जहां से वो सात संस्थाओं का संचालन करती थी.

रिश्तेदारी

बताया जा रहा है कि मनीषा बिहार के एक बड़े राजनेता की दूर की रिश्तेदार है. उसके मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांड के आरोपी ब्रजेश ठाकुर से भी अच्छे संबंध रहे हैं. मनीषा दयाल का राजनेताओं से लेकर आईपीएस-आईएएस से भी नजदीकियां रही है.

कस्टडी

पटना के आसरा होम की 2 संवासियों की संदिग्ध हालात में मौत के बाद मनीषा और चिरंतन को गिरफ्तार किया गया है. फिलहाल दोनों पुलिस रिमांड पर हैं. गिरफ्तारी के पहले तक मनीषा सालाना 70 लाख रुपये की बजट वाली संस्था का संचालन करती थी. अब पुलिस पड़ताल कर रही है.

One Comment

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: