11 बजे राहुल मिले और 3 बजे कट गया लालू का टिकट, RJD समर्थकों का AIIMS में हंगामा

0
40
लालू का कट गया टिकट

दिल्ली। एम्स में राहुल गांधी के कदम पड़े और लालू का कट गया टिकट. ये संयोग भी हो सकता है. सोमवार को राहुल गांधी ने दिन के करीब 11 बजे लालू प्रसाद से मुलाकात की.

लालू का कट गया टिकट

मुलाकात के ठीक 4 घंटे बाद यानि 3 बजे एम्स ने लालू प्रसाद को डिस्चार्ज कर दिया. ऐसे में सवाल उठता है कि क्या राहुल गांधी को मालूम था कि आज लालू प्रसाद को रिम्स भेज दिया जाएगा.

ये भी पढ़ें: रांची क्यों नहीं जाना चाहते लालू प्रसाद?, आखिर ऐसी क्या बात है?

चारा घोटाले में दोषी लालू प्रसाद पिछले एक महीने से दिल्ली एम्स में इलाज करा रहे थे. एम्स से 3 बजे डिस्चार्ज के बाद नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पहुंचे. 4 बजे राजधानी एक्सप्रेस से रांची के लिए रवाना हो गए.

‘साजिश के तहत एम्स से छुट्टी’

एम्स से डिस्चार्ज होने के बाद लालू प्रसाद काफी नाराज दिख रहे थे. उन्होंने कहा कि राजनीतिक साजिश के तहत उन्हें एम्स से छुट्टी दी गई. लालू के समर्थकों ने एम्स से लेकर नई दिल्ली रेलवे स्टेशन तक हंगामा किया.

हालांकि एम्स का कहना है कि लालू प्रसाद के स्वास्थ्य में सुधार है. रांची इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज में इलाज कराने के लिए यात्रा कर सकते हैं.

ये भी पढ़ें: लालू परिवार: कोई बेटी डॉक्टर तो कोई सांसद, दामाद भी इंजीनियर और पायलट

इस बाबत लालू प्रसाद ने एम्स के निदेशक को पत्र लिखकर गुजारिश भी की थी. पत्र में लिखा था कि रिम्स में किडनी के इलाज की समुचित इंतजाम नहीं है. इसलिए उनको वहां नहीं भेजा जाना चाहिए. पूरी तरह फिट होने तक एम्स में ही उनका इलाज किया जाए.

RJD समर्थकों का AIIMS में हंगामा

एम्स के फैसले पर लालू के समर्थकों ने अस्पताल परिसर में हंगामा भी किया. आरजेडी ने आरोप लगाया कि एम्स से जबरन उन्हें निकाला गया. उनके नेता की हत्या की साजिश की जा रही है. लालू प्रसाद कई बीमारियों से जूझ रहे हैं.

एम्स प्रशासन का कहना है आरजेडी समर्थकों ने अधिकारियों और सुरक्षा कर्मियों से बदसलूकी की. इस बाबत दिल्ली पुलिस से एम्स ने शिकायत की है.

‘खतरे के लिए AIIMS जिम्मेदार’

लालू प्रसाद ने अपने पत्र में लिखा था कि अभी मेरी तबीयत ठीक नहीं हुई है. मैं किडनी इंफेक्शन, हृदय रोग, शुगर समेत कई बीमारियों से ग्रसित हूं. अगर मुझे एम्स से रांची भेजा जाता है और मेरे जीवन पर इसका कोई खतरा उत्पन्न होता है तो इसकी पूरी जवाबदेही आपकी होगी.
न जाने किस राजनीतिक दबाव में मुझे यहां (दिल्ली एम्स) से हटाया जा रहा है.

डॉक्टरों को किसी व्यक्ति या राजनीतिक दल के दबाव में आकर कोई निर्णय नहीं लेना चाहिए. जब तक मैं पूरी तरह स्वस्थ नहीं हो जाता, तब तक मुझे यहीं रखकर मेरा इलाज करवाया जाए.

हालांकि एम्स का कहना है कि लालू प्रसाद बिल्कुल फिट हैं. यात्रा कर सकते हैं. लंबे समय तक चलनेवाले इलाज के लिए उन्हें रिम्स भेजा जा रहा है.  लालू प्रसाद को 29 मार्च को दिल्ली एम्स में भर्ती कराया गया था. चारा घोटाले में लालू प्रसाद 23 दिसंबर से जेल की सजा काट रहे हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.