‘मैंने राजनीति इसलिए ज्वाइन की क्योंकि मैं कांग्रेस में विश्वास करती हूं’

1
23
'मैंने राजनीति इसलिए ज्वाइन की क्योंकि मैं कांग्रेस में विश्वास करती हूं'

'मैंने राजनीति इसलिए ज्वाइन की क्योंकि मैं कांग्रेस में विश्वास करती हूं'

दिल्ली। पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की बेटी शर्मिष्ठा मुखर्जी बीजेपी की टिकट पर चुनाव लड़ सकती है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक बीजेपी सूत्रों की मानें तो प्रणव मुखर्जी की इच्छा है कि शर्मिष्ठा मुखर्जी, मालदा सीट से बीजेपी की टिकट पर चुनाव लड़ें।

अब अंतिम फैसला शर्मिष्ठा मुखर्जी को लेना है। इस बारे में दो बार बीजेपी और प्रणब मुखर्जी के बीच बातचीत हुई है। शर्मिष्ठा मुखर्जी वर्तमान में कांग्रेस की प्रवक्ता हैं। वहीं, प्रणव मुखर्जी खुद आरएसएस के नागपुर के कार्यक्रम में शामिल हुए।

शर्मिष्ठा ने खबरों को किया खारिज

वहीं, मीडिया में आ रहे रिपोर्टों के बाद बीजेपी के टिकट पर चुनाव लड़ने की खबर को शर्मिष्ठा मुखर्जी ने खारिज कर दिया है। शर्मिष्ठा ने ट्वीट कर लिखा है कि पहाड़ों के बीच सुंदर सूर्यास्त का आनंद ले रही हूं और अचानक इस खबर ने कि मैं बीजेपी ज्वाइन कर रही हूं, टॉर्पीडो की तरह लगी।

क्या इस दुनिया में कहीं भी शांति और स्वच्छता नहीं हो सकती। मैंने राजनीति इसलिए ज्वाइन की क्योंकि मैं कांग्रेस में विश्वास करती हूं, कांग्रेस छोड़ने से पहले मैं राजनीति छोड़ दूंगी।

अजय माकन ने बताया अफवाह

वहीं, दिल्ली कांग्रेस के अध्यक्ष अजय मकान ने भी शर्मिष्ठा के बीजेपी में जाने की खबरों को अफवाह बताया है। उन्होंने कहा है कि कुछ अफवाहों के चलते शर्मिष्ठा से बात की जो इस वक्त बाहर हैं।

वो एक समर्पित कांग्रेसी हैं और कांग्रेस की विचारधारा में विश्वास रखती हैं। उन्होंने मुझे बताया कि वो कांग्रेस की विचारधारा में विश्वास की वजह से राजनीति में हैं।

गौरतलब है कि शर्मिष्ठा मुखर्जी पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी की बेटी हैं। राजनेता के साथ-साथ वे कत्थक डांसर और कोरियोग्राफर भी हैं। जुलाई 2014 में शर्मिष्ठा मुखर्जी ने कांग्रेस का हाथ थामा था।

2015 में उन्होंने कांग्रेस के टिकट पर दिल्ली में ग्रेटर कैलाश विधानसभा से चुनाव लड़ा। इस चुनाव में उन्हें आम आदमी पार्टी के सौरभ भारद्वाज के मुकाबले हार का सामना करना पड़ा।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.