पानी की जंग में 12 लोगों ने गंवाई जान, पुलिस की गाड़ियों को फूंका

पानी की जंग में 12 लोगों ने गंवाई जान, पुलिस की गाड़ियों को फूंका

तमिलनाडु। जिस कंपनी की वजह से धरती का पानी पीने लायक नहीं रह गया, उस कंपनी को बंद करने की मांग हिंसक झड़प में तब्दील हो गई. इसके बाद पुलिस कार्रवाई में कम से कम 12 लोगों ने जान गंवा दी.

तमिलनाडु के तूतीकोरिन में पिछले एक महीने से वेदांता की स्टरलाइट कॉपर यूनिट को बंद करने की मांग लोग कर रहे हैं. इसे लेकर कई बार स्थानीय लोगों ने प्रदर्शन भी किया.

मगर ये प्रदर्शन मंगलवार को हिंसक झड़प में बदल गया. प्रदर्शनकारियों का आरोप है कि स्टरलाइट कॉपर यूनिट की वजह से इलाके में भूजल प्रदूषित हो रहा है.

12 की मौत, 50 से ज्यादा जख्मी

पुलिस के मुताबिक करीब 20 हजार प्रदर्शनकारी स्टरलाइट कॉपर यूनिट की ओर बढ़ने लगे. रोके जाने पर हिंसक हो गए, भीड़ ने पुलिस पर हमाल कर दिया. पुलिस की गाड़ियों को फूंक दिया.

जिसके बाद मजबूरी ने फायरिंग की. जिसमें 12 लोगों की मौत हो गई, जबकि 50 से ज्यादा लोग जख्मी है. उन्हें इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

10-10 लाख रुपए मुआवजे का एलान

घटना के बाद मुख्यमंत्री पलानीस्वामी ने मृतकों के परिजनों को 10-10 लाख रुपए मुआवजे का ऐलान किया. घायलों को 3-3 लाख रुपए सगायता राशि दी जाएगी. जबकि मृतकों के परिजनों को सरकारी नौकरी का आश्वासन दिया.

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पुलिसिया कार्रवाई की निंदा की. उन्होंने कहा कि तमिलनाडु में स्टरलाइट विरोधी प्रदर्शन के दौरान पुलिस ने लोगों को मार दिया. यह सरकार प्रायोजित आतंकवाद का बर्बर मिसाल है.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: