नॉर्थ से साउथ तक ‘मौत’ का तूफान, मचाई भीषण तबाही, 40 से ज्यादा लोगों ने गंवाई जान

thunderstorm hits north and south india lighting kills more than 40

दिल्ली। नॉर्थ से लेकर साउथ तक में आए आंधी-तूफान ने भारी तबाही मचाई. दर्जनों जगहों पर ये खूनी साबित हुआ. अब तक 40 से ज्यादा लोगों की मौत की सूचना है. कई जगहों पर आकाशीय बिजली गिरने की भी खबर है. ठनका गिरने से कई जगहों पर आग लग गई.

40 से ज्यादा लोगों की मौत

ये भी पढ़ें: पाकिस्तान से उठा बवंडर पहुंचा इंडिया, दिल्ली से लेकर बिहार तक में आफत

उत्तर प्रदेश राजपुरा में आकाशीय बिजली गिरने से सैकड़ों घर जलकर खाक हो गए.

मौसम में आए अचानक बदलाव से देशभर में भारी नुकसान हुआ है.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक यूपी में 21, वेस्ट बंगाल में 12, दिल्ली में 2 और आंध्र-तेलंगाना में 9 लोगों की जान चली गई.

दर्जनों लोग जख्मी हैं. घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

कई इलाकों में आंधी-तूफान को लेकर बिजली काट दी गई है.

70 उड़ानों के रूट में तब्दीली करनी पड़ी.

कई जगहों पर फ्लाइट्स की इमरजेंसी लैंडिंग भी करानी पड़ी.

प्रधानमंत्री ने जताया दुख

ये भी पढ़ें: देश के 15 राज्यों में ‘बवंडर’ का अंदेशा, बहुत जरुरी हो तभी निकलें घर से बाहर

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आंधी-तूफान के कारण हुई मौतों पर दुख जताया है.

पीएम ने ट्वीट कर कहा कि देश के कई हिस्सों में आंधी-तूफान के कारण हुई मौतों पर दुखी हूं,

हवाई जहाजों पर भी असर

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक आंधी-तूफान की वजह से दिल्ली से जानेवाली 9 फ्लाइट्स को लखनऊ एयरपोर्ट पर इमरजेंसी लैंडिंग करानी पड़ी.

एयर ट्रैफिक कंट्रोल ने इन्हें दिल्ली में लैंड करने का परमिशन नहीं दिया.

हावड़ा में 4 बच्चों की मौत

पश्चिम बंगाल के हावड़ा में बारिश और आकाशीय बिजली गिरने से 4 बच्चों की मौत हो गई.

वहीं, बिजली गिरने से पश्चिमी मिदनापुर में 2 और मुर्शिदाबाद में एक शख्स की मौत हो गई.

70 से 100 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार में चली हवा में सैकड़ों पेड़ और बिजली खंभे उखड़ गए.

आंध्र-तेलंगाना में 9 की मौत

वहीं तेलंगाना और आंध्र प्रदेश में आकाशीय बिजली की चपेट में आने से तीन किसानों सहित 9 लोगों की मौत हो गई.

तेलंगाना के मंचेरिअल जिले में तीन किसानों की मौत हुई.

तो आंध्र प्रदेश के तटवर्ती जिले श्रीकाकुलम जिले में ठनका गिरने से 6 लोगों की मौत हो गई.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: