लंदन वाले घर में सोने का टॉयलेट यूज करते हैं विजय माल्या, इस लेखक का दावा

#liquor, #toilet, #golden, #golden toilet, #vijay mallya

दिल्ली। भारतीय बैंकों से अरबों रुपये का कर्ज लेकर फरार विजय माल्या इन दिनों लंदन में रह रहे हैं। मीडिया रिपोर्ट्स में यह दावा किया जा रहा है कि विजय माल्या की लाइफस्टाइल अभी भी बिल्कुल नहीं बदली है। लेकिन अब जो खुलासा हुआ है वो हैरान कर देने वाली है। भारत के सबसे बड़े शराब कारोबारी विजय माल्या गोल्डन टॉयलेट के भी मालिक हैं। विभिन्न बैंकों का नौ हजार करोड़ रुपये से अधिक का कर्ज नहीं चुकाने वाले भगोड़े कारोबारी विजय माल्या की शान में कोई कमी नहीं आई है।

माल्या की शान में कोई कमी नहीं

बिजनेस अखबार इकोनॉमिक टाइम्स की एक खबर के अनुसार जेम्स क्रैबी नाम के एक लेखक और प्रोफेसर ने दावा किया है कि उन्होंने माल्या के लंदन वाले घर पर सोने का टॉयलेट देखा था। एक कार्यक्रम हिस्सा लेने मुंबई पहुंचे जेम्स क्रैबी ने कहा कि वह समझा रहे थे कि किसी जगह का टॉयलेट उसके बारे में काफी कुछ बताता है। फिर उन्होंने विजय माल्या से जुड़ा किस्सा बताया।

ये भी पढ़ें: किशोर बियानी की कंपनी ‘होम टाउन’ ने ‘आइकिया’ को क्यों ‘चिढ़ाया’?

‘सोने का टॉयलेट पेपर नहीं दिखा’

क्रैबी के अनुसार वह उस दिन लगभग चार घंटे तक माल्या के लंदन वाले घर में रुके थे। उस वक्त माल्या उदास थे, क्योंकि उन्हें मोनाको ग्रैंड प्रिक्स देखने जाना था, लेकिन नहीं जा पाए थे और अब घर पर बैठकर ही टीवी पर बाकी लोगों की तरह ग्रैंड प्रिक्स देखने थे। क्रैब्री के मुताबिक, जब वह माल्या के घर पर थे तो माल्या ड्रिंक ले रहे थे। उन्होंने अपना ग्लास उठाया ही था कि क्रैब्री ने उनसे टॉयलेट का रास्ता पूछा और उस तरफ बढ़ गए। क्रैब्री के मुताबिक वहां उन्हें गोल्ड का टॉयलेट दिखा। इसका रिम और टॉप भी सोने के थे। क्रैबी ने कहा कि बस उन्हें सोने का टॉयलेट पेपर नहीं दिखा था।

30 एकड़ के बंगला में रहते हैं माल्या

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार विजय माल्या का इंग्लैंड के एक छोटे से गांव में टिवेन मेंशन है। समझा जाता है कि माल्या अपने इसी घर में रहते हैं। हर्टफोर्डशायर में सेंट अलबंस के निकट टिवेन गांव स्थित माल्या के विशाल बंगले का नाम लेडीवॉक है। लंदन से सड़क मार्ग से यहां एक घंटे में पहुंचा जा सकता है। यह बंगला 30 एकड़ में फैला है।

2 Comments

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: