NDA के हरिवंश बने राज्यसभा के उपसभापति, इन दलों ने खराब कर दिया कांग्रेस का गेम

NDA के हरिवंश बने राज्यसभा के उपसभापति, इन दलों ने खराब कर दिया कांग्रेस का गेम

दिल्ली। राज्यसभा में उपसभापति के चुनाव को लेकर चल रहे सियासी रार अब खत्म हो गया। गुरुवार को हुए वोटिंग में एनडीए के उम्मीदवार हरिवंश सिंह को इस चुनाव में बड़ी जीत हासिल हुई है। हरिवंश से जेडीयू के राज्यसभा सांसद हैं। उन्होंने विपक्ष की ओर से कांग्रेस के बीके हरिप्रसाद को मात दी है। हरिवंश के पक्ष में कुल 125 वोट पड़े तो वहीं बीके हरिप्रसाद के पक्ष में कुल 105 वोट पड़े।

पीएम ने की हरिवंश की तारीफ

हरिवंश सिंह की जीत का राज्यसभा के सभापति वेंकैया नायडू ने जैसे ही ऐलान किया तभी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उन्हें उनकी सीट पर जाकर बधाई दी। उसके बाद प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि अगस्त क्रांति में बलिया की बड़ी भूमिका थी। हरिवंश भी उसी बलिया से आते हैं। पीएम ने कहा कि हरिवंश सिंह कलम के धनी हैं, उन्होंने पत्रकारिता के क्षेत्र में काफी बढ़िया काम किया। वह हमेशा गांव से जुड़े रहे, उन्हें कभी शहर की चकाचौंधी नहीं अच्छी लगी।

ये भी पढ़ें: मोदी-शाह के ‘मास्टर स्ट्रोक’ के आगे धरा रह गया कांग्रेस का ‘गुणा-गणित’, नीतीश कुमार भी ‘बम-बम’

खराब कर दिया कांग्रेस का खेल

एनडीए के पास राज्यसभा में बहुमत नहीं था, फिर कांग्रेस का खेल खराब कर दिया। दरअसल, एआईडीएमके, बीजेडी और टीआरएस के एनडीए के पक्ष में खड़े हो जाने से कांग्रेस के जीत का समीकरण पूरी तरह से गड़बड़ा गया। दरअसल, पीएम मोदी और नीतीश कुमार ने बीजेडी प्रमुख नवीन पटनायक से बात करके उनका समर्थन हासिल कर लिया। बीजेडी के पास राज्यसभा में 9 सांसद हैं। बीजेडी सदस्यों ने एनडीए के पक्ष में वोटिंग किया। इससे कांग्रेस को बड़ा झटका लगा।

इन पार्टियों ने दिया पीएम का साथ

वहीं, एआईडीएमके के पास 13 सांसद हैं। एआईडीएमके ने भी एनडीए उम्मीदवार के समर्थन में वोट किया। डीएमके सुप्रीमो की निधन के कारण पार्टी के एक सांसद ने वोटिंग में हिस्सा नहीं लिया। ये कांग्रेस के लिए गहरा धक्का था।

इसके अलावे तेलंगाना के मुख्यमंत्री केसीआर की पार्टी टीआरएस के पास 6 राज्यसभा सदस्य हैं। टीआरएस ने भी राज्यसभा उपसभापति चुनाव में एनडीए उम्मीदवार को समर्थन किया। केसीआर के इस कदम से कांग्रेस का पूरी तरह से समीकरण गड़बड़ा गया। विपक्ष के कई दलों ने वोटिंग में हिस्सा नहीं लिया। इनमें वाईएसआर कांग्रेस, आम आदमी पार्टी और पीडीपी के सदस्यों ने अपने को बाहर रखा था।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: