उत्तरप्रदेश: बुआ-भतीजा में गठबंधन संभव, कल साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस

उत्तरप्रदेश: बुआ-भतीजा में गठबंधन संभव, कल साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस लोकसभा चुनाव को लेकर उत्तम प्रदेश (UP) में बुआ-भतीजा एक हो सकते हैं। कल समाजवादी पार्टी

30 नवंबर को लॉन्च होगी कुंडा वाले राजा भैया की जनसत्ता पार्टी! टारगेट पर आरक्षण

दिल्ली। उत्तर प्रदेश में एक नई पार्टी लॉन्चिंग के लिए तैयार है. प्रतापपुर के कुंडा से निर्दलीय विधायक रघुराज प्रताप उर्फ राजा भैया ने नई राजनीतिक पार्टी के गठन का एलान किया. उन्होंने कहा कि चुनाव आयोग को तीन नाम भेजे गए हैं. हालांकि चर्चा है कि राजा भैया अपने दल का नाम ‘जनसत्ता पार्टी’ रखेंगे.

‘पिस्टल पाण्डेय’ के साथ उस रात फाइव स्टार होटल में तीन हसीन दोस्त कौन थी?

दिल्ली। लखनऊ के ‘पिस्टल पाण्डेय’ की दिल्ली में की गई ‘रंगबाजी’ भारी पड़ती दिख रही है. फाइव स्टार होटल के गेट पर तमंचे लहराते ‘पिस्टल पाण्डेय’ के हसिनाओं की कहानी भी कम दिलचस्प नहीं है, इनके बारे में भी जान लीजिए. जिसके लिए आशीष पाण्डेय ने पिस्टल लहराई थी, वो हसिनाएं कौन हैं?

दिल्ली का ‘फाइव स्टार बंदूकबाज’ कितना रसूखदार? आखिर किसलिए हुआ था झगड़ा?

दिल्ली। बीएसपी नेता का बंदूकबाज बेटा की मुश्किलें बढ़नेवाली है. गिरफ्तारी के लिए लखनऊ में 5 जगह छापे डाले गए. पूरा मामला गृह मंत्रालय पहुंच चुका है. आर्म्स एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया है. पूर्व बसपा सांसद राकेश पाण्डेय के बेटे आशीष पाण्डेय को दिल्ली के पॉश इलाके आरके पुरम दिल्ली के हयात होटल के बाहर पिस्तौल लहराते हुए

कांग्रेस से ‘बिदकीं’ मायावती, बीजेपी को होगा बंपर चुनावी फायदा!

दिल्ली। 2019 के चुनाव से पहले विपक्षी एकता का गुब्बारा फूट गया है। महागठबंधन बनने से पहले ही बिखर गया है। कांग्रेस से मायावती ने दूरी बनाई। जिसका सीधा फायदा हो चुनावी राज्यों में बीजेपी होगी। क्योंकि मायावती के अलग होने से दलित वोटों का बिखराव होगा, जिसका लाभ बीजेपी उठाएगी।

मायावती की काट के लिए कांग्रेस ने ढूंढ लिया मध्य प्रदेश का ‘जिग्नेश मेवाणी’!

भोपाल। मध्य प्रदेश के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस और बसपा के बीच गठबंधन को लेकर सारी संभावनाएं खत्म हो गई हैं। मायावती ने पिछले दिनों अपने उम्मीदवारों की पहली लिस्ट जारी कर दी है। ऐसे में राहुल गांधी दलित वोटों को साधने के लिए एमपी में गुजरात मॉडल को अपना रहे हैं। उन्होंने मध्य प्रदेश का ‘जिग्नेश मेवाणी’ ढूंठ निकाला.

भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर आजाद के नाम में ‘रावण’ शब्द कहां से आया? जानिए

दिल्ली। भीम आर्मी और चंद्रशेखर आजाद रावण सुर्खियों में है. लोग ये जानना चाहते हैं कि आखिर भीम आर्मी क्या है. ये कैसा संगठन हैं. चंद्रशेखर आजाद रावण कौन हैं? आखिर अपने नाम में रावण शब्द क्यों जोड़ेगा. जबकि उत्तर भारत में रावण एक निगेटिव कैरेक्टर है. वो कौन सा विवाद था जिसके वजह से भीम आर्मी और रावण के बारे में इतनी चर्चा की जाती है. आखिरी सियासी पार्टियां उनके बारे में बोलने से क्यों बच रही है?

देश के 131 सांसदों और 1100 विधायकों को ‘रावण’ का अल्टीमेटम

दिल्ली। देश के ‘दलित’ विधायकों-सांसदों को ‘रावण’ का अल्टीमेटम मिल गया है. अगर काम नहीं करेंगे तो पोल खोल अभियान झेलने को तैयार रहें. भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर उर्फ रावण ने विधायकों-सांसदों को ‘मास्टर प्लान’ भी दिया है. साथ ही अल्टीमेटम भी. अपने क्षेत्र के दलितों और वंचितों के लिए काम करेंगे तो सबक के लिए तैयार रहे.