टमाटर के बाद दूध के लिए तरसेगा पाकिस्तान, दाम हुआ 180 रुपए के पार

0
27
milk price in pakistan dairy farmers in karachi hike rate by rs23 per litre

दिल्ली। ‘लाल मुसीबत’ के बाद अब पाकिस्तान पर ‘सफेद आफत’ (Milk) आ गई है. कुछ समय पहले तक पाकिस्तान में टमाटर की कीमतें आसमान छू रही थी, जो अब भी टंगी हुई है. 180 रुपए किलो तक बिक रहा था. पाकिस्तान में नेशनल डिबेट का बहुत बड़ा मुद्दा बन गया था. क्योंकि भारत ने अपनी तरफ सप्लाई की जाने वाली चीजों को रोक दिया था. अब दूध कीमतें सातवें आसमान पर है, 180 रुपए लीटर तक बिक रहा है.

पाकिस्तान में दूध की ब्लैक मार्केटिंग

पाकिस्तान की जनता की परेशानियां खत्म होने का नाम ही नहीं ले रही. पड़ोस में कमर तोड़ महंगाई है. इसकी वजह से सब्जियों, पेट्रोल, डीजल जैसी जरूरी चीजों की कीमत लेकर जनता पहले से परेशान थी. अब दूध (Milk) के दाम बहुत ज्यादा बढ़ जाने से लोगों की परेशानी और बढ़ गई है. कराची डेयरी फार्मर्स एसोसिएशन ने अचानक से दूध के दाम में 23 रुपए प्रति लीटर का इजाफा कर दिया. दूध का सरकारी दाम 120 रुपए प्रति लीटर है. दाम बढ़ जाने से इसकी ब्लैक मार्केटिंग शुरू हो चुकी है. खुदरा बाजार में दूध 100 रुपए 180 रुपए लीटर तक बिक रहा है. दूध की कीमत इसकी क्वालिटी पर डिपेंड है.

महंगाई की मौत मरेगा पाकिस्तान?

पाकिस्तानी अखबार डॉन से बातचीत में एसोसिएशन ने कहा कि सरकार से उसने पहले कई बार अनुरोध किया था कि दाम (Milk) बढ़ाया जाए, लेकिन सरकार की तरफ से कोई प्रतिक्रिया न मिलने पर उसे खुद ये फैसला लेना पड़ा. एसोसिएशन के एक अधिकारी ने कहा कि वे इस मामले में दखल के लिए सरकारी अफसरों से मिले थे, लेकिन उन्होंने कुछ नहीं किया. चारे का दाम कई गुना पहले ही बढ़ा चुका है और ईँधन की कीमतें भी काफी बढ़ गई है.

दरअसल पाकिस्तानी रुपए का वैल्यू भारतीय रुपए के मुकाबले करीब आधा ही रह गया है. महंगाई से पहले से ही परेशान जनता इससे काफी गुस्से में है. वो अपने बच्चों को जितना चाहिए उतना दूध (Milk) भी नहीं दे पा रहे हैं. आर्थिक रूप से खस्ताहाल होते जा रहे पाकिस्तान की बदहाली बढ़ती जा रही है. पाकिस्तान में महंगाई पिछले साल के रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गई है. मार्च में महंगाई 9.4 फीसदी तक थी. महंगाई बढ़ने, रुपए में गिरावट और कच्चे तेल की बढ़ती कीमतों से पाकिस्तान के केंद्रीय बैंक ने ब्याज दरें बढ़ाकर 10.75 फीसदी कर दी.

दूध का सरकारी दाम 94 रुपए लीटर

इतना कुछ होने के बाद दूध की बढ़ी कीमतों को लेकर लोग गुस्से में है. प्रशासन ने कराची डेयरी फार्मर्स एसोसिएशन के इस कदम को गलत बताया है. महंगा दूध (Milk) बेचने वाले खुदरा दुकानदारों पर कार्रवाई की गई है. प्रशासन ने दूध (Milk) के दाम 94 रुपए प्रति लीटर तय किया है. इसके बावजूद खुदरा विक्रेता 100-180 रुपए लीटर तक बेच रहे हैं. महंगे दामों पर दूध (Milk) बेचने वालों पर प्रशासन की तरफ कार्रवाई की जा रही है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.