चमगादड़ नहीं अब सूअर का सूप पीएगा चाइना, कनाडा से 100 टन पोर्क पहुंचा वुहान

4
185
pork china imports 100 tonne pork from canada for wuhan after coronavirus

चीन। वुहान वाले चमगादड़ नहीं बल्कि अब सूअर के मांस का (Pork) का सूप पीएंगे. चमगादड़ से निकला कोरोना वायरस दुनिया में तबाही मचा रखा है. चमगादड़ सूप को चाइना वाले मजे लेकर पीते थे और फोटो भी खिंचवाते थे. कोरोना वायरस के बाद जब चाइनीज सरकार ने बैन लगाया तो तस्करी पर उतारु हो गए. आखिरकार वुहान वालों की ख्वाहिश पूरी करने के लिए कनाडा से 100 टन सूअर का मांस (Pork) मंगाया गया. ताकि तस्करी के जरिए कहीं एक बार फिर से कोरोना लौट आया तो लेनी की देनी पड़ जाएगी.

Pork आया कनाडा से, वुहान के लिए

कोरोना वायरस पैंगोलिन से चमगादड़ के रास्ते इंसानों में आया और फिर इंफेक्शन बन गया. जंगली जानवरों को खाने से हुए नुकसान के बाद चीन ने कनाडा से 100 टन Pork मंगाया है. शंघाई में यह कंसाइनमेंट पहुंच गया है. 100 टन सूअर का मांस (Pork) शंघाई के यंगशान पोर्ट पर उतारा गया. यहां से इसे वुहान भेजा जाएगा. वुहान में Pork की सप्लाई करके लोगों की इच्छाओं को पूरा किया जाएगा. ताकि लोग मांस खाने के लिए इसका तस्करी न करें. वुहान ही वो जगह है जहां से पहले चीन और फिर पूरी दुनिया में कोरोना वायरस फैला. जो अब पूरी दुनिया के लिए सबसे बड़ा खतरा बन गया है.

वो चाइनीज ‘पाप’ जिसकी वजह से पूरी दुनिया खतरे में

कोरोना के बाद भी जिंदा जानवरों को खा रहे चीन के लोग…

चीन में हो रही थी तस्करी

चीन ने देश में जिंदा जानवरों की बिक्री पर रोक भले ही लगा दी हो लेकिन अब ऑनलाइन इसकी खरीदारी कर रहे हैं. यही नहीं चीन सरकार ने अब अपने डॉक्टरों को सलाह दी है कि वे जंगली जानवरों के विभिन्न हिस्सों का इस्तेमाल कर बनाई गई परंपरागत दवा को कोरोना के मरीजों को दें. ये दवा भालू के पित्त से बनी है. चीन के नेशनल हेल्थ कमिशन ने गंभीर रूप से बीमा मरीजों को यह दवा देने की सिफारिश की है. चीन के इस कदम की दुनिया भर में आलोचना हो रही है. दरअसल चीन में जिंदा जानवरों को खाने और दवाओं को बनाने में हजारों सालों से इस्तेमाल किया जाता रहा है. इसी वजह से दुनियाभर से सांप, कछुए, भालू और जिंदा जानवरों की चीन में तस्करी भी होती है.

खुलने लगी चीन की पोल-पट्टी, वुहान में जमा कर रखे थे 1,500 वायरस

वुहान से बिजिंग नहीं पहुंचने वाला कोरोना, कहीं साजिश तो नहीं?

कार कंपनियां बनाएंगी वेंटिलेटर

इटली में मरनेवालों की संख्या 10 हजार के पार चली गई. यहां के मुर्दाघर शवों से भरे पड़े हैं. दुनियाभर में 30 हजार से ज्यादा लोगों ने अब तक जान गंवाई है. अमेरिका में 1 लाख 16 हजार 50 लोग कोरोना पॉजिटिव हैं. जबकि 1 हजार 937 की मौत हो चुकी है. अमेरिका के हालात इतने खराब हो गए है कि राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने देश की ऑटोमोबाइल कंपनियों जनरल मोटर्स और फोर्ड से अब गाड़ियों के निर्माण की बजाए वेंटिलेटर मशीनें तैयार करने को कहा है. भारत की बात करें तो यहां कोरोना पॉजिटिव के मामले 1,021 हो गए हैं जबकि 24 लोगों की मौत हो चुकी है. ये आंकड़ा रुकने का नाम नहीं ले रहा है.

सिर्फ 5 मिनट में होगा कोरोना वायरस का टेस्ट, अमेरिकी कंपनी का नया मशीन

दिल्ली और यूपी के लिए सिरदर्द बने मजदूर, बिहार में नहीं घूसने की नीतीश का फरमान

4 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.