आरबीआई गवर्नर उर्जित पटेल ने दिया इस्तीफा, मोदी सरकार से विवाद बनी वजह?

0
36
Urjit patel: आरबीआई गवर्नर ने दिया इस्तीफा, मोदी सरकार से विवाद बनी वजह?

आरबीआई गवर्नर उर्जित पटेल ने दिया इस्तीफा, मोदी सरकार से विवाद बनी वजह?

दिल्ली। सरकार से तानातनी की खबरों के बीच आरबीआई गवर्नर ने उर्जित पटेल (Urjit patel) ने अपने कार्यकाल पूरा होने से 9 महीने पहले ही इस्तीफा दे दिया। इस्तीफे की वजह उन्होंने निजी बताया। लेकिन चर्चाएं है कि मोदी सरकार से कई मुद्दों पर आरबीआई के साथ विवाद थी। उन विवादों की वजह से ही उन्होंने इस्तीफा दिया। मगर प्रधानमंत्री मोदी ने उनके इस्तीफे के बाद उर्जित के कार्यकाल की तारीफ किया।

विवाद की वजह से इस्तीफा?

आइए हम विवाद वाले उन मुद्दों के बारे में जानते हैं, जिसकी वजह से सरकार के साथ उर्जित (Urjit patel) की नहीं बन रही थी। दरअसल, पिछले कुछ महीनों से केंद्रीय बैंक गवर्नर और केंद्र सरकार में स्वायत्तता को लेकर विवाद खड़ा हुआ था। विवाद केंद्र सरकार द्वारा आरबीआई के खजाने में पड़े सिक्योरिटी डिपॉजिट को लेकर था। केंद्र सरकार केंद्रीय रिजर्व से अधिक अंश की मांग कर रहा था। बाद में सरकार ने बयान दिया कि उसके और आरबीआई के बीच स्वायत्तता को लेकर कोई विवाद नहीं है।

विवाद निपटारे के लिए कमेटी

इसके साथ ही केंद्र सरकार और केंद्रीय बैंक में नए सिरे से सामंजस्य बैठाने के लिए कई अहम फैसले लिए थे। इसमें आरबीआई और केंद्र सरकार को मिलकर एक एक्सपर्ट समिति गठित करनी थी। इस समिति को आरबीआई और केंद्र सरकार के बीच जारी विवादों की समीक्षा करने के साथ उनके हल पर काम करना था। वहीं इस समिति को गठित करने में केंद्रीय बैंक के साथ-साथ केंद्र सरकार को भी अहम किरदार दिया गया था।

कामकाज में दखल का आरोप

आरबीआई और केंद्र सरकार के बीच कई संवेदनशील मामलों में विवाद की स्थिति का खुलासा अक्टूबर के अंत में तब हुआ जब आरबीआई के डिप्टी गवर्नर विरल आचार्य ने दावा किया कि आरबीआई के कामकाज में दखल देने से देश के लिए खतरनाक स्थिति पैदा हो सकती है। इसके अलावा वित्त मंत्री अरुण जेटली ने आरबीआई पर आरोप लगाया था कि 2008 से 2014 तक केंद्रीय बैंक ने कर्ज बांटने के काम की अनदेखी की और देश के सामने गंभीर एनपीए की समस्या खड़ी हो गई। वहीं, बैंकिंग सेक्टर में बैड लोन की समस्या को लेकर आरबीआई ने देश में गैर-बैंकिंग फाइनेंशियल कंपनियों के बैड लोन को दुरुस्त करने के लिए कड़ी पाबंदियां लगाई थी।

पीएम और जेटली से तारीफ

हालांकि उन्होंने अपनी इस्तीफे की वजह व्यक्तिगत बताया है। वहीं, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी उर्जित पटेल (Urjit patel) के कार्यकाल की तारीफ करते हुए कहा है कि उनके नेतृत्व में आरबीआई ने अच्छा काम किया है। वित्त मंत्री अरुण जेटली ने उर्जित पटेल (Urjit patel) को भविष्य के लिए शुभकामनाएं देते हुए कहा है कि उनके साथ काम का अनुभव अच्छा रहा।

राहुल के निशाने पर केंद्र

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि मोदी सरकार केंद्रीय बैंक की स्वायत्तता पर हमला कर रही है। पटेल (Urjit patel) का इस्तीफा उसी का नतीजा है। देश को भरोसेमंद सरकार की जरूरत है जो झूठा प्रचार कर रही है। देश को भरोसेमंद सरकार की जरूरत है जो झूठा प्रचार ना करे बल्कि संवैधानिक मूल्यों का पालन करे। गौरतलब है कि 4 सितंबर 2016 को उर्जित पटेल (Urjit patel) आरबीआई गवर्नर का पद संभाला था। उनका कार्यकाल सितंबर 2019 तक था। लेकिन उन्होंने 9 महीने पहले ही इस्तीफा दे दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.