VIDEO: CBI ‘घूसकांड’ मामला ‘जासूसी’ तक पहुंचा, आलोक वर्मा के घर के बाहर पकड़े गए 4 संदिग्ध

VIDEO: CBI 'घूसकांड' मामला 'जासूसी' तक पहुंचा

दिल्ली। सीबीआई में चल रहे घूसकांड मामला अब जासूसी तक पहुंच गया है. घूसकांड का मामला दफतरों से निकलकर पहले कोर्ट पहुंचा, मगर अब सड़क पर पहुंच गया है. छुट्टी पर भेजे गए सीबीआई डायरेक्टर आलोक वर्मा के घर के बाहर संदिग्ध लोगों को पकड़ा गया है. इन सभी पर आलोक वर्मा के घर के बाहर संदिग्ध गतिविधि में शामिल होने का आरोप है. फिलहाल इनसे पूछताछ की जा रही है.

घूसकांड मामला अब जासूसी तक

पकड़े गए सेदिग्धों के पास से IB (Intelligence Bureau) के आईकार्ड मौजूद थे. ये सभी सीबीआई चीफ के घर के बाहर हंगामा कर रहे थे. बाद में सीबीआई प्रमुख के सुरक्षागार्ड इन्हें पकड़कर घर के भीतर ले गए. सिक्योरिटी पर्सनल के मुताबिक ये सभी संदिग्ध गतिविधि कर रहे थे. इनके पास से आईफोन बरामद किए गए, इनके पास से जो कार्ड मिले हैं उनमें आईबी में इनकी पोस्ट भी लिखी हुई है. बताया जा रहा है कि ये चारों लोग देर रात 2 बजे 2 गाड़ियों से अलोक वर्मा के घर के बाहर पहुंचे थे. ऐसा लग रहा है कि घूसकांड मामला अब जासूसी तक पहुंच गया है. सीबीआई में घूसकांड सामने आने के बाद सीवीसी की सिफारिश पर सरकार ने आलोक वर्मा और राकेश अस्थाना को कुछ दिनों के लिए छुट्टी पर भेज दिया है.

ये भी पढ़ें: CBI घूसखोरी मामला क्या है? वर्मा-अस्थाना विवाद में दांव पर ‘साख’

सुप्रीम कोर्ट पहुंचे आलोक वर्मा

ऐसा लग रहा है कि घूसकांड मामला अब जासूसी तक पहुंच चुका है मगर आलोक वर्मा ने सरकार के फैसले को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी है जिस पर शुक्रवार को सुनवाई होगी. सीबीआई ने विशेष निदेशक रहे राकेश अस्थाना और कई दूसरे के खिलाफ कथित तौर पर मीट कारोबारी मोइन कुरैशी की जांच से जुड़े सतीश साना नाम के व्यक्ति से मामले को रफा-दफा करने के लिए घूस लेने का मामला दर्ज किया है. इस मामले में सीबीआई के डीएसपी देवेंद्र कुमार को गिरफ्तार भी किया गया है. मामले में राकेश अस्थाना भी आरोपी हैं. सीबीआई ने खुद अस्थाना पर उगाही और फर्जीवाड़े का मामला दर्ज किया है.

नागेश्वर बने अंतरिम निदेशक

सीबीआई डायरेक्टर आलोक वर्मा और स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना के बीच छिड़ी जंग के बीच केंद्र ने सीवीसी की सिफारिश पर दोनों अधिकारियों को छुट्टी पर भेज दिया. मगर इन विवादों के बीच घूसकांड मामला अब जासूसी तक पहुंचता दिख रहा है. ज्वाइंट डायरेक्टर नागेश्वर राव को सीबीआई का अंतरिम निदेशक बना दिया है. चार्ज लेने के साथ ही नागेश्वर राव ने मामले से जुड़े 13 दूसरे अफसरों का ट्रांसफर कर दिया.

One Comment

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: