जिस जहाज में विजय माल्या करता था पार्टियां, उसकी बिक्री से आए पैसों में भारतीय बैंकों ने मांगी हिस्सेदारी

0
4
जिस जहाज में माल्या करता था पार्टियां

दिल्ली। बैंकों के हजारों करोड़ रुपये लेकर भागे शराब कारोबारी विजय माल्या अभी लंदन में हैं। अब माल्या का जहाज इंडियन इम्प्रेस बिक गया है। बिक्री से जो राशि आई है, उसमें भारत के 13 बैंकों के कंसोर्टियम ने हिस्सेदारी मांगी है। माल्या पर बैंकों का 10 हजार करोड़ रुपये का बकाया है। माल्या ने इस जहाज को 2006 में खरीदा था और इसकी मरम्मत में पांच लाख पौंड यानी 44.5 करोड़ रुपये खर्च किए थे।

जहाज पर 15 सिनेमा हॉल

इस जहाज में 15 सीटर सिनेमा हॉल, स्पा और स्टीम रूम, ब्यूटी सैलून और जेंटलमैन्स लॉन्ज है। अभी यह जहाज माल्टा के वालेटा में खड़ा है। माल्या का यह जहाज तब सुर्खियों में आया था जब मोनाको गैंड प्रीक्स वीकेंड के दौरान कुछ फॉर्मूला वन पार्टियां हुईं थी। जिसमें करीब 1000 हजार से ज्यादा लोगों को आमंत्रित किया गया था। इस पार्टी की तस्वीरें खूब सुर्खियां बटोरी थीं। तमाम हाईप्रोफाइल लोगों का जमावड़ा इस पार्टी में लगा था।

जहाज की कीमत 648 करोड़

जिस जहाज में माल्या करता था पार्टियां

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार इस जहाज की कीमत करीब 648 करोड़ रुपये हैं। खबरों के मुताबिक माल्या ने मेरिटाइम बिल न चुकाने पर सितंबर 2017 में इस जहाज को छोड़ दिया था। इसमें 40 से अधिक क्रू का लगभग 1.97 करोड़ रुपये का वेतन न चुकाने पर सीफेरर्स के संगठन नॉटिलस इंटरनैशनल ने इस जहाज को मार्च 2018 में जब्त कर लिया था।

  • कंसोर्टियम ने भगोड़े शराब कारोबारी विजय माल्या के जहाज इंडियन इम्प्रेस की बिक्री से मिल रकम साझा करने की मांग की
  • इसकी रिपेयरिंग पर विजय माल्या ने साढ़े 44 करोड़ रुपए खर्च किए थे
  • जुडिशल री-ऑक्शन में करीब 277 करोड़ रुपए में माल्टीस सोसाइटी-सी ब्यूटी याचिंग लिमिटेड को बेच दिया गया
  • माल्या ने इस जहाज से अधिक क्रू मेंबर का लगभग 2 करोड़ रुपए सैलरी नहीं चुका पाए

277 करोड़ में बिका जहाज

इस जहाज को सितंबर 2018 में एक जुडिशल री-ऑक्शन के तहत लगभग 277 करोड़ रुपये में माल्टीस सी ब्यूटी याचिंग लिमिटेड को बेच दिया गया था। अब इस बिक्री से जो रकम आए हैं, उसमें भारतीय बैंक अपनी हिस्सेदारी मांग रहे हैं। क्योंकि माल्या भारतीय बैंकों का ही पैसा लेकर फरार है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.