Covid-19: वुहान से बिजिंग नहीं पहुंचने वाला कोरोना, कहीं साजिश तो नहीं?

4
152
covid-19 chinese virus corona virus corona world america corona coronavirus

दिल्ली। आज कल पूरी दुनिया कोरोना (Covid-19) के साए में है. पति को पत्नी और बच्चे अपने पिता को शक की नजरों से देख रहे हैं. सभी एक-दूसरे से बचने की कोशिश कर रहे हैं. आम तौर पर दुनिया के हर कोने में ये रिश्ते प्यार और गर्मजोशी भरे होते हैं.

Covid-19 से अचानक कैसे मुक्त हुआ वुहान?

मगर सवाल है कि पूरी दुनिया को अपने चपेट लेने वाला कोरोना (Covid-19) वुहान से बिजिंग और शंघाई तक का सफर नहीं कर पाया. जबकि पूरी दुनिया में यमराज बनता फिर रहा है. जब यह इतना भयंकर था तो मृतकों के आंकड़ें को लेकर भी लोगों को चीन पर यकीन हो रहा है. वुहान के अचानक कोरोना मुक्त होने के पीछे चीन का कहना है कि कठोर उपाय की वजह से वुहान को कोरोना मुक्त किया जा सका. मगर इसका खुलासा चीन ने नहीं किया. ये ‘कठोर उपाय’ दुनिया के दूसरे हिस्सों में कारगर क्यों नहीं हो रहा?

दुनिया में 22,000 से ज्यादा की मौत, इटली की राह पर स्पेन, खतरे में अमेरिका

जो वायरस (Covid-19) दुनिया के दूसरे हिस्सों में आग की तरह फैल रहा है वो चीन की राजधानी तक नहीं पहुंच सका. शंघाई तक नहीं पहुंच पाया. ऐसे में सवाल उठता है कि क्या वुहान के लोग बिजिंग और शंघाई नहीं जाते-आते हैं? ऐसा बिल्कुल संभव नहीं है. क्या नवंबर से जनवरी तक एक भी आदमी वुहान से बिजिंग नहीं गया? आखिर क्या वजह रही कि बिजिंग और शंघाई में एक भी आदमी कोरोना की वजह से नहीं मरा?

वुहान से बिजिंग नहीं पहुंच पाया Covid-19?

वैसे पूरी तरह किसी के भी तर्क को खारिज नहीं किया जा सकता मगर शंका तो किया ही जा सकता है. पूरी दुनिया को तबाही की कागार पर लाने वाला कोरोना (Covid-19) चीन की राजधानी तक कैसे नहीं पहुंच सकता है? इसके आर्थिक पहलू को देखें तो कुछ तस्वीरें साफ होती दिखती है. जिन देशों से अमेरिका के ज्यादा व्यापार होते हैं, वहां कोरोना (Covid-19) का असर ज्यादा देखा जा रहा है. कुछ थिंक टैंक का मानना है कि कोरोना की वजह से अमेरिका आर्थिक रूप से तबाही के कागार पर पहुंच सकता है.

चीन जानता है कि अमेरिका को सैन्य रूप से मात नहीं दे सकता. आर्थिक रुप से परेशान जरूर कर सकता है. अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप हमेशा ये बताते रहे हैं कि कैसे अमेरिकी अर्थव्यवस्था सभी मोर्चों पर सुधर रही है. नौकरियां अमेरिका में वापस आ रही है. अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव की तैयारियां भी चल रही है. जिसमें फिलहाल ट्रंप का पलड़ा भारी दिख रहा है. जिन्हें चीन पंसद नहीं करता ये किसी से छिपी हुई नहीं है.

क्या अमेरिका को तबाह करने की साजिश?

कोरोना (Covid-19) कहर इटली, फ्रांस, स्पेन, इंग्लैंड, दक्षिण कोरिया, भारत, मध्य पूर्व और अमेरिका पर सबसे ज्यादा है. रूस और उत्तरी कोरिया में कोरोना (Covid-19) के केस नाम मात्र के हैं. यहां पर यह महामारी की तरह नहीं है. लॉकडाउन वाले हालात नहीं है. जबकि इन देशों से चीन की आवाजाही ज्यादा है, ये एक-दूसरे के सहयोगी भी हैं. यहां हालात वैसे नहीं हैं जैसे अमेरिकी, यूरोपीय, मध्यपूर्व और भारत में है. ये कुछ सवाल हैं जो चीन पर शक जाहिर करने को मजबूर करते हैं.

4 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.