बांग्लादेश में पढ़ती हैं देवेंद्र की बेटियां, कहीं ISI फंडिंग तो नहीं कर रही? जांच जारी

0
106
dsp devendra singh arrested for transporting militants attack delhi chandigarh

दिल्ली। बर्खास्त डीएसपी देवेंद्र सिंह (Devendra singh) के अभी कई राज़ खुलने बाकी है. जम्मू-कश्मीर के कुलगाम से हिजबुल मुजाहिदीन के आतंकियों के साथ गिरफ्तार किए गए थे. केंद्रीय अन्वेषण एजेंसी यानी एनआईए का शिकंजा तेजी से कसता जा रहा है. केस दर्ज करने के बाद एनआईए देवेंद्र सिंह की पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई से कनेक्शन खंगालने में जुटी है.

फंडिंग ISI तो नहीं कर रही?

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक देवेंद्र सिंह (Devendra singh) की बेटियों की पढ़ाई के लिए आईएसआई फंड देता है. इसकी वजह यह है कि आमतौर पर भारतीय अपने बच्चों को उच्च शिक्षा के लिए बांग्लादेश नहीं भेजते हैं. मगर देवेंद्र की बेटियां ढाका में पढ़ती है. रिपोर्ट के मुताबिक देवेंद्र सिंह की दो बेटियां फिलहाल बांग्लादेश में पढ़ाई कर रही है.

आतंकियों को दिल्ली पहुंचाने के लिए DSP ने की थी डील,…

साढ़ 7 लाख रुपए किसके थे?

जांच में ये बात भी सामने आई है कि साल 2019 में देवेंद्र सिंह (Devendra singh) तीन दिन के बांग्लादेश दौरे पर गया था. वहां कई दिनों तक रूका रहा. हालांकि सुरक्षा एजेंसियों को आशंका है कि देवेंद्र सिंह के बांग्लादेश दौरे की असली वजह आईएसआई कनेक्शन हो सकता है. जम्मू-कश्मीर पुलिस और अन्य जांच एजेंसियां देवेंद्र सिंह के बैंक अकाउंट की भी जांच कर रही है. देवेंद्र सिंह के घर से बरामद हुए साढ़े सात लाख रुपए के सोर्स का भी पता लगाया जा रहा है.

पास क्यों दे रहा था Devendra singh?

दिलचस्प बात ये हैं कि जम्मू-कश्मीर पुलिस ने जिस हिजबुल आतंकी नवीद बाबू के सिर पर 20 लाख रुपए का इनाम घोषित रखा था, उसको देवेंद्र सिंह (Devendra singh) ने गिरफ्तार करने की बजाए 12 लाख रुपए में सुरक्षित पास दे रहा था. एनआईए इस बात की गंभीरता से जांच कर रही है कि देवेंद्र सिंह ने आतंकी नवीद को मारकर 20 लाख रुपए इनाम लेने की बजाए काम पैसे में उसको सुरक्षिता पास क्यों दे रहा था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.