71 करोड़ का इनामी रिमी मारा गया, ट्रंप के आदेशों के पीछे मकसद क्या?

1
114
al raymi killded us attack he was top al qaeda leader qasim al rimi

दिल्ली। अमेरिका ने यमन में अलकायदा के सरगना कासिम अल रिमी (Al Raymi) को मार गिराया. कासिम पर करीब 71 करोड़ का इनाम था. पिछले 5 महीनों में अमेरिका की ये तीसरी बड़ी कार्रवाई है. ऐसे में सवाल उठ रहे हैं कि आखिर साल 2020 में इन कार्रवाईयों का मकसद क्या है? अमेरिकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने एक बार फिर सैन्य कार्रवाई की जानकारी दी. उन्होंने बताया कि यमन में अलकायदा का सरगना कासिम अल रिमी अमेरिकी सैन्य कार्रवाई में मारा गया. हालांकि कासिम को कहां और कैसे ढेर किया गया इस पर ट्रंप चुप्पी साध गए.

Al Raymi कौन था?

कासिम अल रिमी (Al Raymi) यमन में अलकायदा अरब पेनिसुला का सरगना था. वो साल 2015 से वो अमेरिका की मोस्ट वॉन्टेड लिस्ट में था. उसपर अमेरिका ने 10 मिलियन डॉलर का इनाम भी रखा था. वो 1990 के दशक में अलकायदा में शामिल हुआ था. रिमी (Al Raymi) अलकायदा प्रमुख ओसामा बिन लादेन का साथी भी रहा. अमेरिकी सेना पर हमले समेत कई वारदात में शामिल रहा था.

5 महीने में 3 बड़ी कार्रवाई

पिछले पांच महीने में अमेरिकी सेना की ये तीसरी बड़ी कार्रवाई है. कासिम (Al Raymi) के साथ अलकायदा का नेता अयमान अल-जवाहिरी भी मारा गया. पिछले साल अक्टूबर में आईएस सरगना अबु बकर अल बगदादी मारा गया. 3 जनवरी को इराक एयरपोर्ट पर ईरानी सैन्य नेता कासिम सुलेमानी की मौत हुई.

क्या कोरोना वायरस चीन में लाएगा लोकतंत्र? टेस्ट के लिए 8-8 घंटे लगानी पड़ रही लाइन

कोरोना से अगाह करने वाले डॉक्टर की कोरोना से ही हुई मौत, अब तक 563 की गई जान

कोरोना से चीन की सड़कों पर कौवों की तरह मर रहे लोग, नाक-मुंह ढंकनेवाला मास्क के लिए मारामारी

सेना की ये तीनों कार्रवाई ट्रंप के आदेश के बाद हुई. तीनों कार्रवाई में किसी तरह की मुठभेड़ नहीं हुई और तीनों कार्रवाई में सेना ने एक योजना पर अमल किया गया. तीनों ही कार्रवाईयों को बेहद सफलता पूर्वक अंजाम दिया गया.

अमेरिका में चुनाव वजह तो नहीं?

जानकार मानते हैं कि इसके पीछे अमेरिका में आगामी राष्ट्रपति चुनाव हो सकता है. ट्रंप अपनी विदेश नीति को मजबूत करने और अमेरिकियों की सुरक्षा के नाम पर इन कार्रवाईयों को भुना सकते हैं. हालांकि बड़ी बात ये है कि एक आतंकी सरगना (Al Raymi) को अमेरिकी सेना ने मार गिराया है. लेकिन सवाल अब भी यही है कि क्या इसके बावजूद दुनिया भर में आतंकी कार्रवाइयों में कमी आएगी?

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.