पुलवामा आतंकी हमला: वो 10 बातें जो आपको जानना जरूरी है…

2
36
millitants attacked convoy of crpf in jammu and kashmir pulwama attack

दिल्ली। जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में आतंकियों (Pulwama attack) ने कायराना हरकत को अंजाम दिया. इस हमले में 44 जवान शहीद हो गए. 45 जवानों के अस्पताल में भर्ती कराया गया है. पुलवामा में जवानों के काफिले पर हुआ आतंकी हमला साल 2016 में उरी सेक्टर में सेना के कैंप पर हुए हमले से भी बड़ा है. उरी हमले में 19 जवान शहीद हुए थे. इस बड़े आतंकी हमले से जुड़ी कुछ बड़ी बातें जान लीजिए.

1.

गुरुवार दोपहर करीब साढ़े तीन बजे ये (Pulwama attack) हमला सुरक्षा बलों के काफिले पर हुआ. इस काफिले में 70 गाड़ियां शामिल थीं. जिसमें 20 से ज्यादा बस, ट्रक और एसयूवी गाड़ियां थीं. सीआरपीएफ के मुताबिक इस आत्मघाती हमले का शिकार 76बीएन सीआरपीएफ की बस हुई. इस बस में 39 जवान सवार थे.

2.

7 दिन पहले यानी 8 फरवरी को ही खुफिया एजेंसियों ने अलर्ट जारी कर कहा था कि कश्मीर में सुरक्षाबलों के डिप्लॉयमेंट और उनके आने-जाने के रास्ते पर आतंकी आईईडी से हमला (Pulwama attack) कर सकते हैं. अलर्ट के बावजूद आतंकियों का हमला बड़े चूक की ओर इशारा कर रहा है.

3.

इस हमले (Pulwama attack) की जिम्मेदारी पाकिस्तान के प्रतिबंधित संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने ली है. उसने स्थानीय कश्मीरी आतंकी का वीडियो जारी किया है जिसे फिदायीन बताया जा रहा है. इस युवक की पहचान आदिल अहमद डार के तौर पर हुई है. ये पुलवामा जिसे के काकपोरा का ही रहनेवाला है. बताया जा रहा है कि आदिल पिछले साल फरवरी में मोस्ट वांटेड आतंकी जाकिर मूसा के गजवत-उल-हिंद में शामिल हुआ था और कुछ ही महीने पहले ही वो जैश में शामिल हुआ था.

4.

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक दिसंबर में जैश-ए-मोहम्मद का कमांडर अब्दुल रशीद गाजी घाटी में घुसा था. गाजी के बारे में बताया जा रहा है कि वो अफगानिस्तान में तालिबानियों के साथ लड़ाई लड़ने के साथ-साथ पीओके में जैश के कैंप में चीफ इंस्ट्रक्टर भी रह चुका है. सूचना है कि गाजी ने ही इस हमले (Pulwama attack) में शामिल फिदायीन आदिल अहमद डार को आईईडी ब्लास्ट की ट्रेनिंग दी थी.

5.

हमले (Pulwama attack) से अंदाजा लगाया जा रहा है कि सुरक्षाबलों के काफिले के गुजरने की सूचना पहले से ही आतंकियों के पास थी. हमले में एक आतंकी ने गाड़ी का इस्तेमाल किया है, जिसमें विस्फोटक रखे गए थे. शहीदों की संख्या से अंदाजा लगाया जा रहा है कि शायद उन्होंने उस गाड़ी को निशाना बनाया जिसमें सबसे ज्यादा जवान थे.

6.

पिछले कुछ दिनों से कश्मीर में आतंकियों के सफाए से पाकिस्तान में बैठा मोस्ट वांटेड आतंकी मौलाना मसूद अजहर परेशान था. (Pulwama attack) हाल ही में जवानों ने जैश के आतंकी उस्मान और तल्हा रशीद को मुठभेड़ में मार गिराया था. उस्मान मौलाना मसूद अजहर का भतीजा और तल्हा रशीद भांजा था.

7.

हमले के बाद राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने गृह मंत्रालय के उच्च अधिकारियों के साथ बैठक की और पूरे घटनाक्रम (Pulwama attack) पर नजर बनाए हुए हैं. पुलवामा आतंकी हमले की जांच के लिए राष्ट्रीय जांच एजेंसी की 12 सदस्यीय टीम बनाई गई है. जो हमले की जांच करेगी.

8.

पुलवामा आतंकी हमले के बाद केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने हाई लेवल बैठक की. उन्होंने अपना प्रस्तावित बिहार दौरे को रद्द कर दिया. राजनाथ सिंह पुलवामा आतंकी हमले (Pulwama attack) की कड़े शब्दों में निंदा की. वो पुलवामा जाकर हालात का जायजा लेंगे.

9.

कश्मीर में हुए इस बड़े आतंकी हमले की चौतरफा निंदा हो रही है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि उन्होंने इस हमले (Pulwama attack) को लेकर गृहमंत्री राजनाथ सिंह और उच्च स्तर के अधिकारियों से बात की. उन्होंने कहा कि सेना के जवानों की शहादत जाया नहीं जाएगी.

10.

विपक्षी दलों ने भी पुलवामा आतंकी (Pulwama attack) हमले की निंदा की. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट कर शोक जताया. वहीं पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी ने जवानों की शहादत पर शोक व्यक्त करते हुए गुरुवार को होने वाली प्रेस कॉन्फ्रेंस स्थगित कर दिया. उन्होंने कहा कि ये उचित समय नहीं है क्योंकि वो उन परिवारों की वेदना अच्छी तरह समझती हैं.

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.