आज से 8 मार्च तक खुलेगा राष्ट्रपति भवन का मुगल गार्डन

1
58
mughal garden will open for people from february 5 to 8 march in rashtrapati bhawan

दिल्ली। राष्ट्रपति भवन का मुगल गार्डन (Mughal Garden) एक बार फिर दर्शकों के लिए तैयार है। इस बार यहां लोगों को ट्यूलिप, गुलाब और मौसमी फूलों की सैंकडों किस्म देखने को मिलेंगी। साथ ही राष्ट्रपति भवन संग्रहालय का लुत्फ भी दर्शक उठा सकेंगे।

Mughal Grarden कब तक खुलेगा?

राष्ट्रपति भवन के मशहूर मुगल गार्डन को देखने का इंतजार खत्म हो गया है। एक बार फिर दुर्लभ और आकर्षक फूलों के साथ मुगल गार्डन दर्शकों के लिए सजधज के तैयार है। इस बार ये गार्ड्न 5 फरवरी से 8 मार्च तक खुला रहेगा। सोमवार को रखरखाव के लिए गार्डन बंद रहेगा।

बैंक डूब जाए तो भी गम नहीं, कम से कम 5 लाख रुपए तो मिल कर ही रहेंगे

11 मार्च को स्पेशल विजिटर्स के लिए गार्डन खुलेगा। स्पेशल विजिटर्स में सेना, पुलिस और दिव्यांग शामिल हैं। गार्डन देखने के लिए ऑन लाइन बुकिंग की जा सकती है। सुबह 10 बजे से शाम 4 बजे तक गार्डन की सैर की जा सकेगी।

यहां क्या है देखने लायक?

मुगल गार्डन (Mughal Garden) को खास बनाने के लिए इस बार रंग-बिरंगे फूलों की कई किस्मों से कई बगीचे तैयार किए गए हैं। इसमें 10 हजार ट्यूलिप और 70 तरह के 5 हजार मौसमी फूल हैं। ग्रेस द मोनाको समेत 138 तरह के गुलाब हैं।

चीन की सड़कों पर कौवों की तरह मर रहे लोग, नाक-मुंह ढंकनेवाला मास्क के लिए मारामारी

पंडित नेहरू, प्रणब दा, मदर टेरेसा और महारानी एलिजाबेथ के नाम से भी गुलाब दिखेंगे। ग्रीन रोज, ओक्लाहोमा और ब्लू मून रोज के अलावा हर्बल गार्डन, बोन्साई गार्डन और म्यूजिकल गार्डन (Mughal Garden) खासतौर पर शामिल है।

पिछले साल सवा पांच लाख लोगों ने मुगल गार्डन (Mughal Garden) की सैर की थी। इसमें से 25 हजार से ज्यादा लोगों ने राष्ट्रपति भवन के संग्रहालय का भी दौरा किया था।

Grarden क्यों है खास?

राष्ट्रपति भवन का संग्रहालय इस बार भी दर्शकों के लिए खुला रहेगा। इसमें गार्डन के 80 साल पुराने हाथ से बने चित्र शामिल हैं। इसके अलावा कई और कलाकृति और स्मृति चिन्ह भी देखने लायक हैं। गार्डन (Mughal Garden) के साथ संग्रहालय के लिए भी ऑनलाइन बुकिंग उपलब्ध है।

साल 2003 से मुगल गार्डन (Mughal Garden) की सैर करने आने वाले लोगों की संख्या लगातार बढ़ रही है। ऐसे में लोगों को सुरक्षा कारणों की वजह से समस्या ना हो, इसके लिए राष्ट्रपति भवन की ओर से दिशा-निर्देश भी जारी किए गए हैं।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.