यूज किया हुआ सैनिटरी पैड को उबाल कर क्यों पी रहे नौजवान?

0
39
यूज किया हुआ सैनिटरी पैड को उबाल कर क्यों पी रहे नौजवान?

यूज किया हुआ सैनिटरी पैड को उबाल कर क्यों पी रहे नौजवान?

दिल्ली। नशे के आदि लोग कुछ भी कर सकते हैं. ऐसा हम अक्सर देखते और सुनते हैं. लेकिन एक देश के युवा नशे के लिए कुछ ऐसा कर रहे हैं जिसके बारे में जानकर आपको घिन आएगी.

नशे के लिए सैनिटरी पैड

दरअसल, मीडिया रिपोर्टस के अनुसार इंडोनेशिया के युवा नशे के लिए यूज किया हुआ सैनिटरी पैड को कचरे के ढेर उठाकर इकट्ठा कर रहे हैं. उसे फिर उबालकर उसे निकले लिक्विड को पी रहे हैं. कहा जा रहा है कि इस लिक्विड से लोगों को ड्रग्स जैसा नशा मिला है. इंडोनेशियाई मीडिया में इसे लेकर लगातार खबरें भी छप रही हैं. इस जानलेवा नशे के लिए इंडोनेशिया के युवा पहले यूज किया हुआ सैनिटरी नैपकीन को पानी में बॉयल करते हैं. उसके बाद उस पानी को पी लेते हैं. उसके बाद वह खुद को उड़ता हुआ महसूस करते हैं.

स्वाद कड़वा फिर भी इस्तेमाल

इंडोनेशिया के नेशनल नारकोटिक्स के एक अधिकारी ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि ये युवा पैड को कचरे से बिनते हैं. गर्म पानी में उबालने के बाद उसे ठंडा होने का इंतजार करते हैं, फिर उसे पीते हैं. दरअसल, सैनिटरी पैड में सोडियम पॉलीक्राइलेट होता है, जो एक तरल पदार्थ को सोखने में मदद करता है, उसे निगलना युवाओं की जिंदगी को भारी नुकसान पहुंचा सकता है. वहीं, ऐसा करते हुए कुछ लोगों को गिरफ्तार भी किया गया है. लेकिन इंडोनेशिया में इसका प्रचलन काफी बढ़ा है. कहा जाता है कि इसका स्वाद काफी कड़वा होता है, फिर भी युवा इसे पीते हैं.

किसने और कहां से की?

इंडोनेशिया के जावा में स्थानीय पुलिस ने कार्रवाई करते हुए कुछ लोगों को सैनिटरी पैड्स से नशा करते हुए पकड़ा. गिरफ्तार 14 साल के एक नाबालिग के मुताबिक पहले पैड का रैपर हटाकर इसे एक घंटे तक उबाला जाता है. फिर उस पानी को नोचोड़कर एक ग्लास में डाल दिया जाता है. नाबालिग ने बताया कि इस तरल का स्वाद कड़वा होता है, लेकिन पीने के चंद मिनटों बाद ही नशेका अहसास दिलाता है. जानकारों के मुताबिक बीते दो सालों से सैनिटरी पैड से नशा का ट्रेंड चल रहा है. हालांकि ये पक्के तौर पर जानकारी नहीं मिल पाई है कि इसकी शुरुआत किसने और कहां से की.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.