थाने में घुसकर थानेदार से बोले तेजप्रताप, आ रही अपनी सरकार

0
3
Tejpratap Yadav

थाने में घुसकर थानेदार से बोले तेजप्रताप, आ रही अपनी सरकार

पटना: समर्थकों के साथ फुलवारीशरीफ थाना पहुंचे आरजेडी नेता तेजप्रताप यादव (Tejpratap yadav) काफी गुस्से में नजर आए. वहां आते ही उनका सामना थानेदार कैसर आलम से हुआ. जहां दोनों ओर से गरमा-गरम बहस देखने को मिली. इस बीच एक बार ऐसी स्थिति बनी कि तेजप्रताप ने थानेदार को चेतावनी देते हुए कहा, ‘आप हमसे बहस कर रहे हैं. सरकार आ रही है अपनी, जान लीजिए.

उधर, फुलवारीशरीफ थाना प्रभारी मोहम्मद कैसर ने आरोप का खंडन करते हुए कहा कि उन्होंने फोन पर बदतमीजी नहीं की. उन्होंने कहा कि पीड़ित महिला प्राथमिकी दर्ज कराने कभी भी थाने में नहीं आई. बहरहाल, फुलवारीशरीफ थाने में काफी देर तक हाईवोल्टेज ड्रामा चलता रहा।. इस बीच तेजप्रताप (Tejpratap yadav) का साथ देने उनके मामा साधु यादव भी थाने पहुंच गए थे.

‘थना प्रभारी ने बदतमीजी की’

तेजप्रताप (Tejpratap yadav) ने बताया कि गुरुवार को उनके जनता दरबार में एक महिला फरियादी ने फुलवारीशरीफ थाने में प्राथमिकी दर्ज नहीं किए जाने की शिकायत की. उसकी शिकायत के बारे में जब उन्होंने थाना प्रभारी से फोन पर जानकारी लेनी चाही और मामला दर्ज न किए जाने का कारण जानना चाहा, तब थाना प्रभारी ने उनसे बदतमीजी से बात की.

ये भी पढ़ें- तेज प्रताप का तेवर देख हाथ जोड़ बोले DSP- सर… काम हो गया?

‘अब थानेदार भी रंगदारी बतियाने लगा है’

इसके बाद तेजप्रताप (Tejpratap yadav) ने अपने अंदाज में कहा कि अब थानेदार भी रंगदारी बतियाने लगा है. ऐसे थानेदार को हटवाना होगा. पुलिस का काम जनता की सेवा करना है. उन्होंने कहा कि जब थाने में ऐसी हालत है तो राज्य में कानून व्यवस्था की स्थिति समझी जा सकती है.

‘समर्थकों के साथ धरने पर बैठे तेजप्रताप’

थानेदार की बदतमीजी पर भड़के तेजप्रताप (Tejpratap yadav) अपने समर्थकों के साथ फुलवारीशरीफ थाना पहुंच गए, और थाने के बाहर वे अपने समर्थकों के साथ धरने पर बैठ गए. इधर, पूर्व मंत्री के थाने में धरने पर बैठने की खबर सुनते ही फुलवारी डीएसपी रामाकांत प्रसाद थाने पहुंचे और उनका स्वागत करते हुए हाथ जोड़कर परिचय दिया फिर गंभीरता पूर्वक तेजप्रताप की शिकायत सुनी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.