मजाक-मजाक में ये शख्स बन गया इस देश का राष्ट्रपति

2
41
ukraine comedian volodymyr zelensky wins presidential election

दिल्ली। मजाक-मजाक में बहुत कुछ हो जाता है. मजाक-मजाक में कोई किसी देश का राष्ट्रपति बन जाए तो क्या कहेंगे? तो क्या मान लिया जाए कि लोग राजनेताओं और उसके वादों से उब चुके हैं?. या फिर राजनेताओं पर लोगों का भरोसा नहीं रह गया?. ऐसा ही कुछ हुआ है उक्रेन में. यूक्रेन के लोकप्रिय कॉमेडियन 42 साल के वोलोदिमीर जेलेंस्की (Volodymyr zelensky) ने राष्ट्रपति का चुनाव जीत लिया.

कपिल की तरह  Zelensky  लोकप्रिय

भारत में जिस तरह से कॉमेडियन कपिल शर्मा पॉपुलर हैं, ठीक उसी तरह उक्रेन में वोलोदिमीर जेलेंस्की (Volodymyr zelensky) लोकप्रिय हैं. मगर क्या पता था कि वो राष्ट्रपति का चुनाव जीत जाएंगे. वोलोदिमीर जेलेंस्की को अब दुनिया भर के नेताओं से बधाइयां मिल रही है. कॉमेडी करना और देश चलाना दो अलग-अलग चीजें हैं. वोलोदिमीर जेलेंस्की (Volodymyr zelensky) के पास कोई राजनीतिक अनुभव नहीं है. एक अनुभव उनके पास है कि उन्होंने एक सीरियल के लिए राष्ट्रपति का किरदार निभाया था.

ये भी पढ़ें: ‘ओ खादेरन की मदर, जानत बाड़ू, मेहरारू के मूंछ काहे ना होला और मर्द के…

73 फीसदी लोगों की पसंद जेलेंस्की

उक्रेन राष्ट्रपति के जारी आधिकारिक रिजल्ट के मुताबिक कॉमेडियन वोलोदिमीर जेलेंस्की (Volodymyr zelensky) ने 73.2 फीसदी वोट हासिल किए हैं. वर्तमान राष्ट्रपति पेट्रो पोरोशेंको को उन्होंने हराया है. पोरोशेंको को महज 24.4 फीसदी वोट मिले और वो कॉमेडियन वोलोदिमीर जेलेंस्की से हार गए. दुनिया में किसी भी चुनाव परिणाम का ये असाधारण परिणाम है. ये चुनाव अभियान महज एक मजाक से शुरू हुआ था मगर बाद में राष्ट्रपति का पद जीतने तक पहुंच गया. मतदाताओं ने उन्हें अपने सिर-आंखों पर बिठाया. उक्रेन के लोग सामाजिक अन्याय, भ्रष्टाचार और रूस समर्थिक पूर्वी हिस्से में अलगाववादियों के साथ संघर्ष से तंग आ चुके थे. टीवी सीरीज ‘सर्वेंट ऑफ पीपल’ के स्टार वोलोदिमीर जेलेंस्की (Volodymyr zelensky) अब साढ़े चार करोड़ जनसंख्या वाले देश उक्रेन की बागडोर संभालेंगे.

ये भी पढ़ें: दिल्ली के बरसाती में रहनेवाले नरेश गोयल की कहानी, शानदार टेक ऑफ से क्रैश लैंडिंग तक

‘ये चुनाव बहुत ही रिस्क वाला है’

रिजल्ट के बाद वोलोदिमीर जेलेंस्की (Volodymyr zelensky) ने कहा कि ‘मैं कभी आपको शर्मिंदा नहीं होने दूंगा. मैं सोवियत काल के बाद के सभी देशों से कहता हूं कि हमें देखिए हर चीज संभव है’. पूर्वी यूक्रेन के साथ युद्ध, आर्थिक चुनौतियों और भ्रष्टाचार के मुद्दे पर जेलेंस्की का सत्ता और युद्ध विरोधी बातें उक्रेन के लोगों को लुभा गया. मतदाताओं का कहना है कि ‘जेलेंस्की (Volodymyr zelensky) के लिए इसलिए वोट किया क्योंकि उसने जो कुछ भी कहा वो सच था’. हालांकि राजनीति विश्लेषकों का कहना है कि ‘जेलेंस्की के पास अनुभव नहीं है और पुतिन बहुत ही खतरनाक विरोधी हैं. ये चुनाव बहुत ही रिस्क वाला है’.

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.