क्या बीजेपी ने खोज लिया राहुल के रफाल का काट? मिशेल को दुबई से भारत लाया गया

1
5
क्या बीजेपी ने खोज लिया राहुल के रफाल का काट?

क्या बीजेपी ने खोज लिया राहुल के रफाल का काट? मिशेल को दुबई से भारत लाया गया

दिल्ली। अगस्ता वेस्टलैंड (Agusta westland) हेलिकॉप्टर घोटाला मामले में भारत को एक बड़ी कामयाबी हाथ लगी है. 3 हजार 600 करोड़ रुपए के इस VVIP हेलिकॉप्टर सौदे में कथित मिडिल मैन और ब्रिटिश नागरिक क्रिश्चियन मिशेल को दुबई से भारत लाया गया. ये ऑपरेशन राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल के नेतृत्व में पूरा किया.

क्या है अगस्त वेस्टलैंड मामला?

खलीज टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक 54 साल के मिशेल को दुबई एयरपोर्ट ले जाया गया और वहां से भारत लाया गया. भारत ने 2017 में खाड़ी देशों से मिशेल की प्रत्यर्पण की मांग की थी. सीबीआई और ईडी इस मामले में मिशेल पर आपराधिक मामले के तहत अगस्ता वेस्टलैंड मामले में (Agusta westland) जांच कर रही थी. ईडी ने जून 2016 में मिशेल के खिलाफ चार्जशीट फाइल की थी.


इसमें कहा गया था कि उसने अगस्ता वेस्टलैंड (Agusta westland) से करीब 225 करोड़ रुपए हासिल किए थे. अगस्ता वेस्टलैंड (Agusta westland) से भारत के लिए वीवीआईपी चॉपर खरीदने की इस डील में बड़ी रिश्वत देने का खुलासा हुआ था. कॉन्ट्रैक्ट के तहत 12 वीवीआईपी हेलिकॉप्टर की सप्लाई की जानी थी. जो 1 जनवरी 2014 को रद्द कर दी गई.

मिशेल पर क्या है आरोप?

मिशेल उन तीन बिचौलियों में से एक है जिनके खिलाफ जांच चल रही है. गुइदो हाश्के और कार्लो गेरेसा भी इस मामले में शामिल हैं. कोर्ट से गैर जमानती वारंट जारी होने के बाद दोनों एजेंसियों ने उसके खिलाफ इंटरपोल रेड कॉर्नर नोटिस जारी कर दिया था. ईडी को जांच में पता चला था कि मिशेल अपनी दुबई की कंपनी ग्लोबल सर्विसेज के जरिए दिल्ली की एक कंपनी को शामिल करके अगस्ता वेस्टलैंड (Agusta westland) से रिश्वत ली थी. इसमें भारत के भी दो लोग शामिल थे.


हालांकि मिशेल ने इन आरोपों को खारिज कर दिया था. मिशेल पर आरोप है कि वायु सेना के तत्कालीन प्रमुख एसपी त्यागी और उनके परिजन समेत दूसरे अभियुक्तों के साथ मिलकर आपराधिक साजिश किया. अधिकारियों ने वीवीआईपी लोगों के लिए खरीदे जा रहे हेलिकॉप्टर की छत की ऊंचाई 6 हजार मीटर से घटाकर 4 हजार 500 मीटर करने के कथित तौर पर अपनी आधिकारिक स्थिति का दुरुपयोग किया.

कांग्रेस के लिए मुसीबत कैसे?

जानकारों का मानना है कि रफाल मामले को लगातार उठा रही कांग्रेस के लिए मिशेल का प्रत्यर्पण मुश्किलें पैदा कर सकता है. 2019 के लोकसभा चुनाव इससे जरूर प्रभावित होंगे. कांग्रेस लगातार रफाल मुद्दा उछाल रही है. सरकार पर आरोप लगा रही है. लेकिन अब तक उस मामले में कुछ साबित नहीं हो सका है. लेकिन अगर मिशेल ने अगस्ता वेस्टलैंड (Agusta westland) मामले में अपना मुंह खोल दिया तो कांग्रेस के लिए मुसीबत हो सकती है. बीजेपी का कहना है कि यूपीए सरकार के दौर के मामले में मिशेल का प्रत्यर्पण भारत की कूटनीतिक जीत है. बीजेपी ने ये भी दावा किया है कि मिशेल का भारत आना कांग्रेस की ‘फर्स्ट फैमिली’ के लिए ‘गंभीर समस्या’ बन सकता है.

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.