3 हजार करोड़ की ‘स्टैच्यू ऑफ यूनिटी’ देखने के लिए आपको कितने पैसे देने होंगे?

3 हजार करोड़ की 'स्टैच्यू ऑफ यूनिटी' देखने के लिए आपको कितने पैसे देने होंगे?

दिल्ली। देश की शान 44 महीने और 3 हजार करोड़ में ‘स्टैच्यू ऑफ यूनिटी’ बनी है. स्टैच्यू ऑफ लिबर्टी (93 मीटर) से इसकी ऊंचाई दोगुनी (182 मीटर) है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इसका उद्घाटन करेंगे. सरदार वल्लभ भाई पटेल की जयंती को यादगार बनाने के लिए पीएम मोदी का महात्वाकांक्षी प्रोजेक्ट स्टैच्यू ऑफ यूनिटी पूरा हो चुका है.

3 हजार करोड़ में ‘स्टैच्यू ऑफ यूनिटी’

आजाद भारत को एकता के सूत्र में पिरोने वाले सरदार वल्लभ भाई पटेल की ऊंची प्रतिमा 182 मीटर यानी करीब 60 मंजिला ऊंची इस प्रतिमा का दीदार करने के लिए आपको 300 रुपये देने होंगे. माना जा रहा है कि 3 हजार करोड़ में ‘स्टैच्यू ऑफ यूनिटी’ बनी है और इसे देखने के लिए देश दुनिया के लोग आएंगे. इसलिए पर्यटन विभाग ने मूर्ति से 3 किलोमीटर की दूरी पर एक टेंट सिटी भी बनाई है. जहां आप रात भी गुजार सकते हैं. पटेल की विशाल प्रतिमा की ऊंचाई 182 मीटर है. जबकि अमेरिका में स्टैच्यू ऑफ लिबर्टी की 93 मीटर और चीन में स्प्रिंग बुद्ध की मूर्ति 90 मीटर ऊंची है.

कैसे बना स्टैच्यू ऑफ यूनिटी?

  • पटेल की प्रतिमा यानी स्टैच्यू ऑफ यूनिटी को बनाने में 4,076 मजदूरों ने दिन रात मेहनत की.
  • विशाल मूर्ति को अंजाम तक पहुंचाने के लिए 800 स्थानीय और चीन से आए 200 कारीगरों ने काम किया.
  • मूर्ति में 2 हजार मीट्रिक टन तांबा और एक लाख 70 हजार क्यूबिक मीटर कंन्क्रीट लगा है.
  • 5,700 मीट्रिक टन स्ट्रक्चरल स्टील और 18,500 मीट्रिक टन छड़ का इस्तेमाल
  • साथ ही इस प्रतिमा को बनाने में 22,500 मीट्रिक टन सीमेंट का इस्तेमाल किया गया है.
  • पटेल की इस मूर्ति को जंग से बचाने के लिए 4 धातुओं का उपयोग किया गया है.
  • लार्सन और टूब्रो ने इस मूर्ति को बनाने में करीब 44 महीनों का वक्त लिया.
  • 3 हजार करोड़ में ‘स्टैच्यू ऑफ यूनिटी’ प्रतिमा को बनाया गया.
  • इस मूर्ति तक पहुंचने के लिए नाव का सहारा लेना होगा.
  • सरदार सरोवर बांध के पास बनाई गई मूर्ति के अंदर आप उनके सीने तक जा सकते हैं.
  • इसके लिए मूर्ति में दो लिफ्ट लगाए गए हैं. जिसमें एक साथ 200 लोग सीने की ऊंचाई तक पहुंच सकते हैं.
  • जहां से सरदार सरोवर का मनोरम दृश्य भी देखने को मिलेगा.

पटेल जयंती पर सरकारी तैयारी

3 हजार करोड़ में ‘स्टैच्यू ऑफ यूनिटी’ बनाया गया है. पटेल की जयंती के दिन पूरा देश एकता के लिए दौड़ेगा. यूजीसी ने सभी कॉलेज और विश्वविद्यालयों को 31 अक्तूबर को राष्ट्रीय एकता दिवस मनाने के लिए कहा है. यही नहीं, देश की सभी राज्य सरकारों ने भी पटेल की जयंती को यादगार बनाने के लिए सभी सरकारी कार्यालयों और स्कूलों को दिशा निर्देश जारी कर दिए हैं.

31 अक्टूबर को छुट्टी है लेकिन सभी को आना अनिवार्य है. स्कूलों में बच्चों को राष्ट्रीय एकता दिवस पर शपथ दिलाई जाएगी. सभी लोगों से रन फॉर यूनिटी मैराथन में हिस्सा लेने की अपील की गई है. 3 हजार करोड़ में ‘स्टैच्यू ऑफ यूनिटी’ गुजरात में बनाया गया है. साथ ही दो दिन पहले से ही छात्रों को कविता, पाठ, पत्र वाचन, निबंधन और चित्रकला प्रतियोगिताएं कराने के निर्देश दिए गए हैं. इसके अलावा राज्यों में अधिकतर जिलों के डीएम ने सभी विभागों को राष्ट्रीय एकता औऱ अखंडता दिवस को भव्य रूप से मनाने का निर्देश दिए हैं. जिसमें कई जिलों में सूचना विभाग की ओर से प्रदर्शनी लगाई जाएगी. जिला अस्पतालों में मरीजों के लिए फल बांटे जाएंगे. बुजुर्ग और कुष्ठ आश्रम में भोजन वितरण किया जाएगा. अलग-अलग प्रतिभाओं और कर्मचारियों को सम्मानित किया जाएगा

One Comment

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: