‘दाग अच्छे हैं’ की तर्ज पर प्रधानमंत्री मोदी ने क्यों कहा कि ‘डर अच्छा है’? जानिए

3
36
pm modi says if antinationals are in fear than its good to india

दिल्ली। भारत की एक मशहूर वाशिंग पाउडर कंपनी ने 2005 में दाग (Stains) यानी गंदगी (कचरा नहीं) को सेलिब्रेट करने के लिए एड बनाई ”दाग अच्छे हैं” ताकि उसका वाशिंग पाउडर बिक सके. ये 30 सेकेंड का एड कमाल का निकला. भारत में कामयाबी के बाद इस एड कैंपेन को पूरी दुनिया में Dirt is good नाम से कंपनी ने लॉन्च किया. 14 साल बाद भी लोगों की जुबान पर है. प्रधानमंत्री मोदी ने भी देश के दुश्मनों से कह दिया है कि ये नया भारत है और ”डर अच्छा है” (Fear is good).

ताकतवर को डरने की जरूरत नहीं

वाशिंग पाउडर के एड में दिखाया गया है कि भाई-बहन स्कूल से लौट रहे हैं. मगर छोटी बहन सड़क किनारे गड्ढे में गिर जाती है और उस पर किचड़ लग जाता है, वो रोने लगती है. तब उसका बड़ा भाई किचड़ से बदला लेता है और कहता है कि सॉरी बोल रहा है. फिर दोनों बच्चों की मुस्कुराहट लोगों की दिल जीत लेती है.

दरअसल इस विज्ञापन का मतलब सिर्फ इतना भर नहीं है. जितना आपको दिखता है. इस आइडिया के पीछे तर्क ये है कि ”अगर आप ताकतवर हैं तो आपको अपने दुश्मनों से डरने की कोई जरूरत नहीं है. आप उन पर काबू पाते रहिए और सेलिब्रेट करते रहिए”. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी देश के बाहर और देश के भीतर के दुश्मनों को मैसेज दिया कि ये आज का न्यू इंडिया है और आज के वातावरण में ”डर अच्छा है” (Fear is good).

मोदी ने बताया ‘डर’ का मतलब

”ये नया भारत है. निडर है. निर्भीक है. निर्णायक है. भारत आज एक नई नीति और रीति पर चल रहा है”. ये शब्द प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हैं. जिस वक्त प्रधानमंत्री ये बातें कर रहे थे उस वक्त वो ”डर” शब्द को डिफाइन कर रहे थे. आखिर किसी को डर क्यों लगना चाहिए? और किसे डर होनी चाहिए?.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि ”यदि दुश्मनों को हमारे सैनियों के पराक्रम से डर लगता है तो यह डर अच्छा है (Fear is good). कोई भारत को आंख नहीं दिखा सकता. देश के भीतर और बाहर दोनों जगहों पर देशविरोधी लोगों में डर पैदा हुआ है. आज के वातावरण में यह डर अच्छा है (Fear is good). जब आतंक के आकाओं में सैनियों के शौर्य का डर हो, तो यह डर अच्छा है (Fear is good). जब भगोड़ों में भी कानून और अपनी संपत्ति जब्त होने का डर हो, तो डर अच्छा है (Fear is good). आज का भारत बदल गया है”.

‘पहले डोल और डील वाली सरकार’

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी डर की खासियत बताते हुए यहीं नहीं रुके, पाकिस्तान के साथ-साथ उन्होंने कांग्रेस को भी लपेटे में लिया. पीएम ने कहा कि वीवीआईपी चॉपर डील में दलाली के आरोप में प्रत्यर्पित किए गए बिचौलिए क्रिस्चन मिशेल का नाम लेकर कांग्रेस और गांधी फैमिली पर तंज कसा. उन्होंने कहा कि ”मामा के बोलने से जब बड़े-बड़े परिवार बौखला जाएं तो डर अच्छा है (Fear is good). भ्रष्ट नेताओं को जेल जाने का डर सताए तो यह डर अच्छा है” (Fear is good). कांग्रेस की पुरानी सरकारों पर नरेंद्र मोदी ने जमकर हल्ला बोला. कांग्रेस की आलोचना करते हुए मोदी ने कहा कि ”पहले डोल (नीचे) और डील (सौदा) वाली सरकार थी”.

ये भी पढ़ें: रांची में राहुल गांधी ने बताया चौकीदार चोर है का मतलब क्या होता है!

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि ”मोदी आएंगे-जाएंगे लेकिन देश अजर-अमर रहेगा”. पाकिस्तान की तरफ से हमले की कोशिश को लेकर पीएम ने कहा कि ”राफेल लड़ाकू विमान की कमी महसूस हो रही है. यदि आज राफेल होता तो नतीजा इससे भी कुछ अलग होता. पहले राफेल पर स्वार्थ नीति और अब राजनीति के चलते देश को बहुत नुकसान हो रहा है”. उन्होंने कहा कि ”आतंक के खिलाफ दुनिया साथ दे रही है, लेकिन कुछ पार्टियां हम पर ही संदेह कर रही है. ये वही लोग हैं, जिनके बयानों को पाकिस्तानी के टीवी चैनलों और रेडियो पर भारत के खिलाफ इस्तेमाल किया जा रहा है. ये लोग मोदी विरोध करते-करते देश विरोध पर उतर आए हैं”.