VHP-शिवसेना की तैयारी राम मंदिर आंदोलन पार्ट-2 की ओर, बढ़ाई गई सुरक्षा

1
13
VHP-शिवसेना की तैयारी राम मंदिर आंदोलन पार्ट-2 की ओर, बढ़ाई गई सुरक्षा

दिल्ली। 2019 के लोकसभा चुनाव से पहले राम मंदिर का मुद्दा एक बार फिर गरम है। भाजपा की ओर से भी अब इस पर खुलकर बात की जा रही है, दिवाली के अवसर उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने फैजाबाद जिले का नाम बदलकर अयोध्या कर दिया। लेकिन राम मंदिर का निर्माण कब होगा कि इस पर सब चुप्पी साध लेते हैं। अब 25 नवंबर को विश्व हिंदू परिषद वहां धर्म सभा करने जा रही है तो शिवसेना भी एक बड़ी रैली करेगी।

राम मंदिर आंदोलन पार्ट-2

दोनों संगठनों की तैयारी देख यहीं लग रहा है कि अब राम मंदिर आंदोलन पार्ट-2 शुरू होने वाला है। इस बार कभी केंद्र मोदी सरकार की सहयोगी रही शिवसेना इस मुद्दे को भुनाना चाहती है। अयोध्या में 25 नवंबर को ही शिवसेना बड़ी रैली करने वाली है। इसमें शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे खुद शामिल होंगे। इसके लिए उन्होंने नारा दिया है चलो अयोध्या। इस स्लोगन के साथ शिव सैनिक अयोध्या के लिए निकल चुके हैं।

VHP-शिवसेना की तैयारी राम मंदिर आंदोलन पार्ट-2 की ओर, बढ़ाई गई सुरक्षा

ऐसे में 25 नवंबर के दिन रामलला का घर संवेदनशील होने वाला है। सरकार और प्रशासन ने किसी भी अनहोनी के लिए पूरी तैयारी कर ली है। अयोध्या के परिक्रमा मार्ग स्थित बड़ा भक्तमाल परिसर में 25 नवंबर को विश्व हिंदू परिषद की विराट धर्मसभा होनी है। इसे देखते हुए सुरक्षा में 6 एएसपी, 16 पुलिस उपाधीक्षक, 30 निरीक्षक, 250 पुलिस उपनिरीक्षक, 12 थानाध्यक्ष, 15 महिला सब इंस्पेक्टर, 650 आरक्षी और 50 महिला आरक्षी को लगाया गया है।

दो लाख लंच पैकेट की तैयारी

वीएचपी की तरफ से दावा किया जा रहा है कि लाखों की संख्या में उनके समर्थक आएंगे। इसे देखते हुए विश्व हिंदू परिषद दो लाख लंच पैकेट तैयार करा रही है। वहीं, अयोध्या में शिवसैनिकों के लिए 3 हजार कमरे बुक किए गए हैं। उद्धव ठाकरे शनिवार को विमान से अयोध्या पहुंच जाएंगे।

वहीं, वहां की स्थिति देख राजनीति भी तेज हो गई है। पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने अयोध्या में सेना तैनात करने की मांग करते हुए कहा है कि बीजेपी किसी भी हद तक जा सकती हैं। अखिलेश ने कहा कि बीजेपी को न सुप्रीम कोर्ट पर यकीन है और न ही संविधान पर। सुप्रीम कोर्ट को संज्ञान लेकर यहां सेना को भेजना चाहिए।

’17 मिनट में बाबरी मस्जिद तोड़ दी’

वहीं, वीएचपी ने अध्यादेश लाने की मांग करते हुए कहा है कि सरकार को इसकी तारीख तय करनी चाहिए। धर्मसभा के जरिए राम मंदिर निर्माण के लिए यह आखिरी कोशिश है। शिवसेना नेता संजय राउत ने अपने बयान से राजनीति और गरम कर दिया है। उन्होंने कहा कि हमने 17 मिनट में बाबरी मस्जिद तोड़ दी तो कानून बनाने में कितना टाइम लगेगा।

ये भी पढ़ें:

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.