11 अगस्त को साल का आखिरी सूर्य ग्रहण, जानें समय और सूतक काल, ये होगी लकी राशियां

देश में नहीं दिखेगा सूर्यग्रहण

साल 2018 का आखिरी सूर्य ग्रहण 11 अगस्त को पड़ेगा। इससे पहले 2018 में सूर्य ग्रहण 15 फरवरी और 13 जुलाई को लगा था। पृथ्वी अपनी धुरी पर निरंतर घुमते रहने के साथ-साथ सौरमंडल में सूर्य का चक्कर भी लगाती है। जब सूर्य और पृथ्वी के बीच में चंद्रमा आ जाता है तो वह सूरज की कुछ या सारी रोशनी रोक लेता है। जिससे धरती पर साया फैल जाता है। इसी घटना को सूर्य ग्रहण कहा जाता है। आइए जानते हैं साल 2018 के आखिरी सूर्य ग्रहण से जुड़ी अहम बातें कि आखिर क्यों देश में नहीं दिखेगा सूर्यग्रहण।

देश में नहीं दिखेगा सूर्यग्रहण

ये भी पढ़ें: अब ‘ब्लड मून’ देखने के लिए अगले जन्म का करना होगा इंतजार, 105 साल बाद लगेगा

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार साल का आखिरी सूर्यग्रहण भारत में दिखाई नहीं देगा। इसे नॉर्थ अमेरिका, नॉर्थ पश्चिमी एशिया, साउथ कोरिया, मास्को, चीन जैसे कई देशों के लोग देख पाएंगे। लंदन में सूर्यग्रहण सुबह 9 बजकर 2 मिनट पर शुरू होगा। भारत में इस सूर्यग्रहण का सूतक काल 10 अगस्त की देर रात 12 घंटे पहले 1 बजकर 32 मिनट पर शुरू हो जाएगा।

सूर्यग्रहण भारत में नहीं दिखेगा, इसलिए यहां सूतक काल का प्रभाव ना के बराबर ही माना जाएगा। नासा के अनुसार 2019 में भी तीन सूर्यग्रहण देखने को मिलेंगे। 2019 में पहला सूर्य ग्रहण 6 जनवरी को, दूसरा 2 जुलाई को तीसरा 26 अगस्त को पड़ेगा।

गौरतलब है कि इसी साल 13 जुलाई को साल का दूसरा सूर्यग्रहण लगा था। इससे पहले 15 फरवारी 2018 को पहला सूर्यग्रहण लगा था।

किन-किन राशियों को लाभ

ज्योतिषियों के अनुसार 12 राशियों में से 4 राशि के जातकों को विशेष लाभ होने वाला है। जिसमें मेष, मकर, तुला और कुंभ राशि के लोग शामिल हैं। वहीं, कर्क, मिथुन और सिंह राशि के लोगों पर इसका बहुत बुरा प्रभाव पड़ेगा। इस दौरान मंगल ग्रह पृथ्वी के इतने करीब आएगा कि इसे नग्न आंखों से भी देखा जा सकेगा।

One Comment

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: