कठुआ-उन्नाव: आधी रात को राहुल-प्रियंका ने निकाला कैंडल मार्च

दिल्ली। आधी रात को गांधी परिवार या यूं कहें कि कांग्रेस परिवार ने कैंडल मार्च निकाला. जम्मू-कश्मीर के कठुआ और उत्तर प्रदेश के उन्नाव में रेप की 2 वारदातों से राहुल और प्रियंका गुस्से में हैं.

दिल्ली के मानसिंह रोड से इंडिया गेट के बीच निकाले गए कैंडल मार्च में काफी तादाद में कांग्रेसी भी शामिल हुए.

राहुल गांधी ने खुद कैंडल मार्च में शामिल होने के लिए बुलावा भेजा था.

आधी रात को राहुल-प्रियंका ने निकाला कैंडल मार्च

राहुल गांधी की लीडरशिप में निकले गए कैंडल मार्च में राहुल की बहन प्रियंका गांधी, बहनोई रॉबर्ट वाड्रा,

पूर्व केंद्रीय मंत्री गुलाम नबी आजाद, अंबिका सोनी, सलमान खुर्शीद, रणदीप सुरजेवाला, अहमद पटेल, दिग्विजय सिंह और दिल्ली कांग्रेस सीनियर नेता शामिल हुए.

राजपथ पर कैंडल मार्च के दौरान पुलिस ने रोकने की कोशिश की. तब सैकड़ों कार्यकर्ताओं के साथ प्रियंका गांधी बीच सड़क पर बैठ गईं. इस बीच कांग्रेस कार्यकर्ताओं में धक्का मुक्की होने लगी. तब प्रियंका गांधी ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं को फटकार लगाई. साथ ही निर्देश दिया कि किसी भी सूरत में अनुशासनहीनता बर्दाश्त नहीं की जाएगी. इस दौरान पुलिस वालों से हल्की झड़प भी हुई.

इन सब के बीच कांग्रेस नेताओं का कैंडल मार्च जारी रहा. राहुल गांधी पुलिस बैरिकेड्स पर चढ़ गए. काफी मशक्कत के बाद एसपीजी के जवानों ने राहुल को भीड़ से बाहर निकाला. बाद में मीडिया से बातचीत में राहुल ने मोदी सरकार पर बौछार कर दी. उन्होंने कहा कि देश में महिलाओं के प्रति असुरक्षा का माहौल है. ये कोई राजनीतिक मुद्दा नहीं बल्कि राष्ट्रीय समस्या है. इससे निपटने के लिए कुछ जरूरी कदम उठाने होंगे. इस दौरान राहुल गांधी ने उन्नाव रेप मामला और कठुआ में बच्ची से गैंगरेप मामले का जिक्र किया. राहुल ने ट्वीट कर कहा था कि उन्हें सजा दिए बिना छोड़ा नहीं जा सकता. राहुल गांधी इस बाबत की जा रही राजनीति की भी आलोचना की थी.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: