राजस्थान: विधायकों और मंत्रियों का टिकट काटकर सत्ता वापसी चाहती हैं ‘महारानी’?

0
157
राजस्थान: विधायकों और मंत्रियों का टिकट काटकर सत्ता वापसी चाहती हैं 'महारानी'?

दिल्ली। राजस्थान विधानसभा चुनाव में टिकट बंटवारे को लेकर सभी दलों में घमासान मचा है। विवादों के बीच भाजपा ने चुनाव के लिए उम्मीदवारों की दूसरी सूची जारी कर दी है। इस सूची में 31 सीटों के लिए उम्मीदवारों के नाम है। इस सूची में बीजेपी ने अपने 15 विधायक और 3 मंत्रियों के टिकट काटकर नए उम्मीदवारों को मौका दिया है।

15 विधायकों और 3 मंत्रियों का कटा टिकट

दरअसल, इससे पहले भाजपा ने 131 उम्मीदवारों की पहली सूची जारी की थी। उस दौरान भी टिकट कटने से नाराज मंत्री सुरेंद्र गोयल ने पार्टी को बर्बाद करने की धमकी देते हुए प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया था। ऐसे में उम्मीद की जा रही है कि और लोग भी बागी रुख अख्तियार कर सकते हैं। पहली सूची में जगह बना पाने में नाकामयाब रहे चिकित्सा मंत्री कालीचरण सर्राफ और उद्योग मंत्री राजपाल सिंह शेखावत का नाम दूसरी सूची में शामिल होने से दोनों के लिए अच्छी खबर है।

दूसरी सूची में 31 उम्मीदवारों के नाम

लेकिन देवस्थान मंत्री राजकुमार रिणवां का टिकट इस बार कट गया है। साथ ही मंत्री बाबूलाल वर्मा का भी केशोरायपाटन से टिकट कट गया है। इसके अलावे बांसवाड़ा से विधायक और मंत्री धन सिंह रावत का भी टिकट कटा है। वहीं, दूसरी सूची में जिन विधायकों के टिकट कटे हैं, इनमें से सबसे चर्चित अलवर के रामगढ़ से विधायक ज्ञानदेव आहूजा हैं। वे अपने विवादित बयानों की वजह से हमेशा चर्चा में रहते थे। इसके अलावे डूंगरगढ़ विधायक किशनाराम, चाकसू विधायक लक्ष्मीनारायण बैरवा, डग विधायक आरसी सुनेरीवाल, गढ़ी विधायक जीतमल खांट, बसेड़ी विधायक रानी कोली, पोकरण विधायक शैतान सिंह, चौहटन विधायक तरुण राय कागा, जैसलमेर विधायक छोटू सिंह भाटी, संगरिया विधायक कृष्ण कड़वा, सिकराय विधायक गीता वर्मा, हिण्डौन विधायक राजकुमारी जाटव, कठूमर विधायक मंगला राम, अनूपगढ़ विधायक शिमला बावरी और बसेड़ी विधायक रानी सिलोटिया शामिल हैं।

7 दिसंबर को वोटिंग, 11 को काउंटिंग

सबसे खास बात यह है कि बीजेपी की दूसरी सूची में भी किसी भई मुस्लिम को टिकट नहीं दिया गया है। वहीं वसुंधरा के करीबी मंत्री रहे युनुस खान को भी अभी तक कहीं से टिकट नहीं मिला है। राजस्थान में 7 दिसंबर को वोटिंग होनी है. 11 दिसंबर को नतीजों का एलान कर दिया जाएगा. पिछले चुनाव में बीजेपी को जीत मिली थी. वसुंधरा राजे यहां की सीएम हैं. राजस्थान विधानसभा का कार्यकाल 20 जनवरी को खत्म हो रहा है. माना जा रहा है कि इस बार के चुनाव में कांग्रेस और बीजेपी में सीधी टक्कर है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.