जेल से बाहर आते ही ‘रावण’ ने भरी BJP को हराने की हुंकार, मायावती को बताया बुआ

बीजेपी के खिलाफ हुंकार

दिल्ली। योगी सरकार ने दलितों को रिझाने के लिए भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर आजाद उर्फ रावण को जेल से पहले ही रिहा करने का फैसला लिया था। अब रावण की रिहाई हो गई और जेल से रिहा होने के बाद चंद्रशेखर ने बीजेपी के खिलाफ हुंकार भरी है। रावण को आधी रात को सहारनपुर जेल से रिहा किया गया है। उसके बाद उन्होंने कहा कि उस समय के डीएम ने मुझे गलत तरीके से फंसाया है।

बीजेपी के खिलाफ हुंकार

रावण उर्फ चंद्रशेखर ने बाहर निकलते ही बीजेपी सरकार के खिलाफ करारा हमला किया है। उन्होंने कहा कि मेरे साथ जेल में ज्यादती हुई है। रावण ने कहा कि मुझे लोगों से मिलने नहीं दिया जाता है। चंद्रशेखर ने यह भी बताया कि मैं अपने समाज के लिए हक के लिए लडूंगा। उन्होंने कहा कि चुनाव लड़ने का कोई इरादा नहीं है। चंद्रशेखर ने ये भी कहा कि महागठबंधन हुआ तो बीजेपी के खिलाफ प्रचार करूंगा।

मायावती को बताया बुआ

उन्होंने कहा कि बीजेपी संविधान विरोधी है. बीजेपी के खिलाफ हुंकार भरने के दौरान उन्होंने कहा कि बीजेपी को हराने के लिए लडूंगा। मायावती के समर्थन की ओर इशारा करते हुए उन्होंने कहा कि मायावती मेरी बुआ समान हैं। रावण ने कहा कि आगे बड़ी चुनौती बाकी है, कल से संगठन की मजबूती के लिए काम करूंगा। चंद्रशेखर ने कहा कि बीजेपी को उखाड़ फेंकने के लिए हर कोशिश करूंगा क्योंकि इन्होंने बाबा साहब के संविधान का अपमान किया है।

16 महीने से जेल में बंद थे

देर रात रिहाई के वक्त जेल के बाहर भारी संख्या चंद्रशेखर के समर्थकों की भीड़ मौजूद रही। बाहर आते ही चंद्रशेखर ने बीजेपी के खिलाफ हुंकार भरी। गौरतलब है कि चंद्रशेखर राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत पिछले 16 महीने से जेल में बंद थे। योगी सरकार की सिफारिश से 2 महीने पहले ही रिहा कर दिया गया। रावण को एक नवंबर 2018 तक जेल में रहना था।

One Comment

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: