PK ने बता दिया, लोकप्रियता में राहुल से 400% आगे हैं मोदी, महिलाओं की सुरक्षा सबसे बड़ी चिंता

#ipac, #i-pac, #prashant kishor, #election, #survey, #2019

दिल्ली। 2014 में बीजेपी के चुनावी रणनीतिकार रहे प्रशांत किशोर के ताजा सर्वे की माने तो 2019 के चुनाव में भी मोदी का डंका बजेगा. ताजा सर्वे में मोदी की लोकप्रियता के आगे कोई नेता टीक नहीं पाया. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नंबर वन हैं. जबकि दूसरे नंबर पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, वहीं तीसरे पायदान पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल हैं. बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार टॉप-6 में भी जगह नहीं बना पाए.

राहुल गांधी से 400 फीसदी आगे मोदी

2019 के लोकसभा चुनाव में करीब 8 महीने का वक्त बचा है. सियासी लड़ाई की पिच पूरी तरह तैयार है. इन सबके बीच राजनीति पार्टियों के लिए चुनावी एजेंडा सेट करने वाले प्रशांत किशोर की संस्था (I-PAC) का लोकसभा चुनावओं से पहले किया गया सर्वे सामने आया है. रिपोर्ट के मुताबिक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लोकप्रियता के पैमाने पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से 400 फीसदी आगे हैं.

#ipac, #i-pac, #prashant kishor, #election, #survey, #2019

I-PAC ने देश भर के 712 जिलों में 55 दिनों तक ऑनलाइन सर्वे किया है. इस सर्वे के दौरान तकरीबन 57 लाख लोगों की राय जानी गई. कुल 923 नेताओं को लेकर सर्वे के दौरान तथ्य लिए गए. आंकड़ों के मुताबिक पीएम मोदी 48%, राहुल गांधी 11.2%, केजरीवाल 9.3%, अखिलेश यादव 7%, ममता बनर्जी 4.2% और मायावती 3.1% लोगों की पसंद हैं. इस सर्वे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सबसे ज्यादा लोगों ने देश के एजेंडे को आगे ले जाने वाला नेता चुना है. सर्वे में शामिल 48 फीसदी लोगों का मानना है कि नरेंद्र मोदी ही देश के एजेंडे को आगे ले जाने के लिए सबसे सबी च्वाइस हैं.
(ग्राफ की तस्वीर सर्वे से ली गई है, क्रेडिट- https://www.indianpac.com/naf/)

महिलाओं की सुरक्षा को सबसे अहम

इस सर्वे में सिर्फ नेताओं की लोकप्रियता के बारे में ही नहीं पूछा गया था बल्कि देश के मौजूदा मुद्दों, किसान, राजनीतिक हलचलों, शिक्षा और खेल से जुड़े सवालों पर लोगों से राय मांगी गई थी. इसके अलावा लोगों से पूछा गया था कि उनके लिए सबसे महत्वपूर्ण मुद्दा क्या है. जिसमें महिलाओं की सुरक्षा को सबसे महत्वपूर्ण मुद्दा बताया गया है. वहीं किसानों की समस्या को दूसरा सबसे बड़ा मुद्दा बताया गया है.

#ipac, #i-pac, #prashant kishor, #election, #survey, #2019

आमिर खान को राजनीति में आना चाहिए

कुछ बड़े चेहरों के बारे में भी सर्वे किया गया जो फिलहाल चुनावी राजनीति से दूर हैं. मगर उनकी बातों का समाज पर असर पड़ता है. लोगों के पूछा गया कि वैसी कौन सी हस्तियां हैं जिन्हें राजनीति में शामिल होना चाहिए. सर्वे के मुताबिक सबसे ज्यादा लोग चाहते हैं कि बॉलीवुड अभिनेता आमिर खान को राजनीति में आना चाहिए. आमिर के बाद अक्षय कुमार, समाजसेवी अन्ना हजारे और योगगुरु रामदेव का नाम भी लिस्ट में शुमार है

कौन हैं चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर?

#ipac, #i-pac, #prashant kishor, #election, #survey, #2019

प्रशांत किशोर के निजी जिंदगी के बारे में बहुत कम जानकारी मिलती है. मीडिया में जो जानकारी है उसके मुताबिक प्रशांत किशोर बिहार के बक्सर के रहनेवाले हैं. उनके पिता श्रीकांत पाण्डेय पेशे से डॉक्टर हैं और बक्सर में अपना क्लीनिक चलाते हैं. वहां पर उनका घर भी है. प्रशांत के बड़े भाई अजय किशोर पटना में रहते हैं और खुद का बिजनेस है. इसके अलावा उनके परिवार में 2 बहनें हैं. जानकारी के मुताबिक प्रशांत ने इंटरमीडिएट की पढ़ाई पटना के प्रतिष्ठित साइंस कांलेज से की है. उसके बाद उन्होंने हैदराबाद के एक कॉलेज से इंजीनियरिंग की पढ़ाई की. फिर अफ्रीका में यूएन हेल्थ एक्सपर्ट के तौर पर काम किया. नौकरी छोड़कर प्रशांत 2011 में इंडिया लौटे. फिर 2012 से 2014 तक मोदी के लिए ‘इमेज रिपेयर’ के तौर पर काम किया. एक बच्चे के पिता प्रशांत किशोर का परिवार ज्यादातर वक्त दिल्ली में रहता है.

आईपैक के पास फिलहाल आंध्र का काम

इंडियन पॉलिटिकल एक्शन कमेटी कंसल्टिंग प्राइवेट लिमिटेड के तहत प्रशांत किशोर की टीम काम करती है. जिसका ब्रांड नेम आईपैक है. इसमें कई प्रोफेशनल्स दिन-रात काम करते हैं. ज्यादा आईआईटी और आईआईएम पास आउट है. इसका रजिस्टर्ड ऑफिस हैदराबाद में है. फिलहाल आईपैक की टीम 2019 चुनाव के लिए जगन मोहन रेड्डी की पार्टी वाईएसआर कांग्रेस के लिए आंध्र प्रदेश में काम कर रही है.

One Comment

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: