श्रीदेवी की साड़ी पहन नेशनल अवॉर्ड लेने पहुंची जाह्नवी कपूर, साथ आए पापा और छोटी बहन

1
16
बेस्ट एक्ट्रेस का नेशनल अवॉर्ड

दिल्ली। श्रीदेवी को मरणोपरांत फिल्म ‘मॉम’ के लिए बेस्ट एक्ट्रेस का नेशनल अवॉर्ड दिया गया. अवॉर्ड लेने के लिए उनकी बेटी जाह्नवी कपूर अपनी मां की साड़ी पहन नई दिल्ली के विज्ञान भवन पहुंचीं. जाह्नवी के साथ उनकी छोटी बहन खुशी कपूर और उनके पिता बोनी कपूर भी थे.

बेस्ट एक्ट्रेस का नेशनल अवॉर्ड

क्रीम कलर की अपनी मम्मी की साड़ी में जाह्नवी काफी खूबसूरत लग रही थीं. फैशन डिजायनर मनीष मल्होत्रा ने जाह्नवी कपूर की तस्वीर अपने सोशल अकाउंट पर शेयर की.

सेरेमनी समारोह शुरू होने से पहले बोनी कपूर ने मीडिया से कहा कि श्रीदेवी फिल्म्स और टीवी चैन्ल्स के माध्यम से लोगों का हमेशा मनोरंजन करती रहेंगी.

ये भी पढ़ें: पीएम मोदी के हमशक्ल को आप जानते हैं?, ‘स्टेटमेंट 8/11’ में आएंगे नजर

बोनी कपूर ने आगे कहा कि ये हमारे लिए गर्व की बात है. हम उन्हें हमेशा मिस करते हैं. अगर वो खुद यहां आकर अवॉर्ड लेतीं तो बहुत खुश होतीं. और क्या बोलूं?.

श्रीदेवी के लिए बेस्ट एक्ट्रेस का अवॉर्ड उनके पति बोनी कपूर और बेटी जाह्नवी-खुशी कपूर ने ग्रहण किया. श्रीदेवी को ये सम्मान फिल्म मॉम के लिए दिया गया. श्रीदेवी के लिए सम्मान लेते वक्त बोनी और उनकी दोनों बेटियां भावुक हो गईं.

विनोद खन्ना को दादा साहेब फालके अवॉर्ड

नेशनल फिल्म अवॉर्ड की बात करें तो दिवंगत विनोद खन्ना को दादा साहेब फालके अवॉर्ड दिया गया. ये अवॉर्ड उनकी पत्नी कविता खन्ना और बेटे अक्षय खन्ना ने ग्रहण किया.

ये भी पढ़ें: जब अमिताभ के बर्थडे विश का अनुष्का ने नहीं दिया जवाब तो फिर…आगे हुआ ये…

फिल्म न्यूटन के लिए अभिनेता पंकज त्रिपाठी को फीचर फिल्म कैटेगरी में सम्मान दिया गया. शाशा त्रिरूपती को बेस्ट प्लेबैक सिंगर का अवॉर्ड दिया गया. दिव्या दत्ता को बेस्ट सपोर्टिंग एक्ट्रेस का सम्मान दिया गया. फिल्म बाहुबली को बेस्ट पॉपुलर फिल्म का सम्मान दिया गया.

विवादों में रहा नेशनल फिल्म अवॉर्ड सेरेमनी

65वां नेशनल अवॉर्ड सेरेमनी विवादों की वजह से चर्चा में भी रहा. 68 लोगों ने अवॉर्ड लेने से मना कर दिया. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने चुनिंदा लोगों को ही अवॉर्ड देने वाले थे. बाकी लोगों को सूचना-प्रसारण मंत्री स्मृति ईरानी सम्मानित करनेवाली थीं.

ये विवाद उस समय शुरू हुआ जब अवॉर्ड पानेवाले रिहर्सल करने के लिए विज्ञान भवन पहुंचे. इन लोगों को बताया गया कि रामनाथ कोविंद सिर्फ एक घंटे के लिए आएंगे और 107 में से सिर्फ 11 लोगों को अपने हाथों से सम्मानित करेंगे.

इस फैसले कई आर्टिस्ट, म्यूजिशियन डायरेक्टर्स, प्रोड्यूसर्स और टेकनीशियंस नाराज हो गए. इनमें से 68 ने अवॉर्ड लेने से इनकार कर दिया.

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.