‘मैंने 2014 में मनमोहन सिंह के बारे में भी मुलायम सिंह यादव से ऐसा ही सुना था’

0
5
mulayam singh yadav want that narendra modi

दिल्ली। उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के नेता मुलायम सिंह यादव (Mulayam singh yadav) प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर मुलायम दिखे. लोकसभा में उन्होंने कहा कि वो चाहते हैं कि मोदी फिर से देश के प्रधानमंत्री बने. तब सोनिया गांधी उनकी बगल में और सोनिया पीछे शरद पवार की सांसद बेटी सुप्रिया सुले बैठी थीं.

मुलायम सिंह का ‘मुलायम वचन’

संसद में मुलायम सिंह यादव (Mulayam singh yadav) ने कहा कि ”मेरी कामना है कि जितने माननीय सदस्य हैं, दोबारा फिर जीत जाएं. मैं ये भी चाहता हूं कि हम लोग तो बहुमत से नहीं आ सकते हैं, प्रधानमंत्री जी आप फिर बने प्रधानमंत्री. हम चाहते हैं जितने सदन में बैठे हैं सब स्वस्थ रहें, सब मिलकर फिर सदन चलाएं. मैं (Mulayam singh yadav) प्रधानमंत्री जी को बधाई देना चाहता हूं. प्रधानमंत्री जी आपने भी सबसे मिलजुल करके और सबका काम किया”.

उन्होंने कहा कि ”ये सही है कि हम जब-जब मिले, किसी काम के लिए कहा, तो आपने उसी वक्त ऑर्डर किया. मैं (Mulayam singh yadav) आपका यहां पर आदर करता हूं. सम्मान करता हूं कि प्रधानमंत्री जी ने सबको साथ लेकर चलने का पूरा प्रयास किया. मैं चाहता हूं, मेरी कामना है कि सदन में जितने माननीय सदस्य हैं दोबारा फिर से जीत जाएं, मेरी ये भी कामना है कि आप फिर से प्रधानमंत्री बनें”.

‘2014 में भी ऐसा सुना था’

जब संसद में मुलायम सिंह यादव (Mulayam singh yadav) नरेंद्र मोदी को फिर से पीएम बनाने की कामना कर रहे थे तो एनसीपी सांसद और शरद पवार की बेटी सुप्रिया सुले भी वहां बैठी थीं. सुप्रिया सुले से जब मुलायम सिंह (Mulayam singh yadav) की टिप्पणी के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि मैंने आदरणीय मुलायम सिंह जी को 2014 में मनमोहन सिंह के बारे में भी ऐसा ही कहते सुना था.

सदन में मुलायम सिंह यादव (Mulayam singh yadav) के बातों को सुनकर प्रधानमंत्री मोदी ने हाथ जोड़े. अपने भाषण के दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि मुलायम सिंह जी ने मुझे आशीर्वाद दे दिया है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोलहवीं लोकसभा के आखिरी सत्र के आखिरी दिन संसद में अपने संबोधन में मुलायम सिंह को विशेष रुप से शुक्रिया कहा. राहुल गांधी से जब मुलायम सिंह (Mulayam singh yadav) के बयान के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि मैं उनसे सहमत नहीं हूं.

मोदी के निशाने पर रहे राहुल

सदन में नरेंद्र मोदी अपने भाषण में सरकार की उपलब्धियों को गिनाया और राहुल गांधी पर निशाना भी साधा. मोदी ने राहुल का नाम लिए बिना कहा कि कुछ लोगों ने संसद में भूकंप लाने की बात कही थी लेकिन कोई भूकंप नहीं आया. मोदी ने कहा कि गले मिलना और गले पड़ने में क्या फर्क होता है इसी संसद में पता चला. इस सदन में पहली बार यह दिखा कि आंखों की गुस्ताखियां क्या होती है. इस सदन में ऐसी हंसी सुनने को मिलती थी कि अच्छे-अच्छे कलाकार भी नहीं कर पाएंगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.